flights

यूरोप, खाड़ी देशों समेत 35 से ज्यादा देशों ने ब्रिटेन से उड़ानों या ट्रेन संचालन पर रोक लगाई थी। ब्रिटिश सरकार ने तो लंदन और कई अन्य इलाकों में नाइट कर्फ्यू का भी ऐलान किया है। भारत में भी नए स्ट्रेन के खतरे को देखते हुए नए साल के शुरुआती दिनों में बंदिशें लगाई गई हैं।

कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को लेकर हड़कंप मचा हुआ है। हर देश अपने यहां संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सावधानी से कदम उठा रहा है। नए साल की शुरूआत और कोरोना की नई स्ट्रेन को ध्यान में रखते हुए सभी फ्लाइट्स 7 जनवरी 2021 तक रद्द कर दी हैं।

नोएडा इंटरनेशनल ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट जेवर के निर्माण के लिए कंसेशन एग्रीमेंट हस्ताक्षरित किए जाने के लिए निर्धारित अवधि का विस्तार कर दिया गया है

कोरोना संकट के बीच अमेरिका और चीन में जंग तेज हो गई है। अब अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन के खिलाफ एक और सख्त फैसला लिया है। ट्रप प्रशासन ने चीन से आने वाली सभी फ्लाइट्स पर रोक लगा दी है।

घरेलू उड़ान से कल 2827 लोग आये हैं। उसमें से उत्तर प्रदेश के 2007 लोग आये हैं उनको होम क्वारंटीन हेतु भेजा गया है और 721 लोग किसी कार्य से उत्तर प्रदेश में आये हैं, उन्होंने अपना विवरण दिया है उनको क्वारंटीन नहीं किया गया है, वे अपना कार्य करके वापस चले जाएंगे।

कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन के ठीक 2 महीने बाद देश के अलग-अलग राज्यों में हवाई सफर दोबारा शुरू हो गया है। नई दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी इंटरनैशनल एयरपोर्ट से भुवनेश्वर के लिए फ्लाइट 6 बजकर 50 मिनट पर रवाना हुई।

देश लॉकडाउन-04 में  चल रहा हैं । इसमें ट्रेनों का परिचालन शुरु हो गया हैं। 25 मई से विमान सेवा फिर से शुरू होने वाली है। कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि सोमवार से महाराष्ट्र में मुंबई से जाने वाली और मुंबई से आने वाली 25 यात्री उड़ानों की मंजूरी दी जाएगी। 

25 मई से देश में घरेलू उड़ानों की सेवा शुरू हो जाएगी। इसके लिए दिल्ली में तैयारियां पूरी हो गई हैं वहीं कोरोना संक्रमण से देश में सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र ने अभी इसे अनुमति नहीं दी है। महाराष्ट्र सरकार का कहना है वह 25 मई से विमान सेवा नहीं शुरू कर सकती।

भारतीय रेलवे के बाद अब इंडियन एयलाइंस भी अपनी सेवाएं बहुत जल्द दोबारा शुरू करने की तैयारी कर रही है। एक मीडिया रिपोर्च के मुताबिक 17 मई को लॉकडाउन का तीसरा फेज खत्म होने के बाद कुछ फ्लाइट्स चलाई जा सकती हैं।

केंद्रीय मंत्री लॉकडाउन के फौरन बाद राहत देने के मूड में नहीं हैं। वे नहीं चाहते कि लॉकडाउन खत्‍म होने के बाद भी राज्‍यों के बीच यातायात शुरू हो। GoM ट्रेनों या पब्लिक/प्राइवेट ट्रांसपोर्ट का मूवमेंट शुरू नहीं करने के पक्ष में नहीं है। एक अधिकारी ने कहा कि मीटिंग में इसपर सहमति थी कि लॉकडाउन के फौरन बाद ट्रेन सेवा शुरू नहीं करनी चाहिए।