LAC

सिक्किम में भारत और चीन की सेना के बीच जोरदार झड़प हुई है। सिक्किम के ना कूला में चीन की सेना भारतीय क्षेत्र में घुसने की कोशिश कर रही थी, लेकिन भारतीय जवानों ने सभी को खदेड़ दिया।

भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में एलएसी तनाव बरकरार है। चीन की तरफ से सीमा समझौतों का उल्लंघन बार-बार किया जा रहा है। अब चीन ने सितम्बर में भारत के साथ हुए समझौते का उल्लंघन किया है।

एक अधिकारी ने सूचना दी है कि दोनों पक्षों के बीच यह उच्च स्तरीय बैठक रविवार को होगी। सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक के लिए रूपरेखा और भारत के पक्ष पर काम किया जा रहा है। सूत्रों की मानें तो भारत और चीन के बीच यह बैठक चुशूल सेक्टर के सामने ड्रैगन की ओर मोल्डो में होगी।

चीन की हरकतों को ध्यान में रखते हुए भारतीय सेना ने युद्धस्तर पर तैयारी शुरू कर दी है। इस बीच हालात को भांपते हुए सेना ने नियंत्रण रेखा के पास केवल 72 घंटे में एक पुल का निर्माण कर दिया है।

पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर चीन और भारत के बीच जारी तनाव आज उस समय कम होता दिखा, जब सीमा से चीन के 10000 हजार सैनिक पीछे हट गए।

भारतीय सेना ने चुसुल सेक्टर में गुरुंग घाटी के पास इस चीनी सैनिक दबोचा है। ये सैनिक भारतीय सीमा में घूम रहा था। हालांकि पूछताछ के दौरान उस चीनी सैनिक ने बताया है कि वो रास्ता भटक गया था, जिस वजह से वो भारत की सीमा में आ गया था।

डीआरडीओ बॉर्डर पर सर्विलांस की क्षमता को अधिक मजबूत बनाने के लिए 6 नए एयरबोर्न अर्ली वार्निंग एंड कंट्रोल प्लेन (अवॉक्स) का निर्माण करेगा। इसके लिए एअर इंडिया के 6 नए एयरक्राफ्ट उपयोग में लिए जाएंगे।

पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ जारी तनाव के बीच भारतीय सेना अपनी ताकत बढ़ाने की तैयारी में है। अब भारतीय सेना का जांबाज चीन का सामना अदृश्य होकर करेंगे।

चीन डोकलाम विवाद के बाद से ही एलएसी के पास अपने निचले इलाकों में सैन्य शिविर का निर्माण कर रहा है। एलएसी के आसपास स्थानीय नागरिकों ने ऐसे 20 से ज्यादा देखें हैं।

लद्दाख में चीन की सेना एलएसी के पास कई पोस्ट और बड़ी-छोटी चोटियों पर कब्जा जमाने की मंशा से रात के अंधेरों में गुपचुप तरीके से कार्रवाई कर रही है।