shivpal singh yadav

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने सरकार से चीनी उत्पादों के आयात पर प्रतिबंध लगाने और चाइनीज कंपनियों का ठेका रद्द करने की मांग करते हुए कहा है

आज इन गरीब प्रवासियों के हिस्से में लूटपाट, पुलिस की पिटाई, फटकार, अपमान, भूख व दुर्घटनाएं हैं और मांग सिर्फ यह है कि घर पहुंचा दो। इतनी असंवेदनशीलता क्यों?” वहीं शिवपाल यादव ने सवाल उठाते हुए सरकार से पूछा था कि मजदूरों के लिए वंदे भारत मिशन क्यों नहीं?

अखिलेश यादव तथा प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता व राज्यसभा सदस्य बेनी प्रसाद वर्मा ‘बाबूजी’ के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।

सभा में शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि स्व. बद्रीनाथ सिंह गरीबों के मसीहा थे। उनके रग-रग में सेवा भाव भरा था। उनकी सहजता ही उन्हें सभी से अलग करती थी। नेता शिवपाल ने इसके बाद भारतीय जनता पार्टी की केंद्र व राज्य सरकार की कार्यशैली पर हमला बोला।

अब इस बार भी सबकी निगाहें इसी पर रहेंगी कि, मुलायम सिंह यादव इस बार भी दोनों के साथ अपना जन्मदिन मनाते हैं या फिर केवल अपने बेटे के साथ ही अपना जन्मदिन मनायेंगे। बता दें कि, जन्मदिन मनाने के लिए मुलायम सिंह यादव गुरुवार को दिल्ली से लखनऊ पहुंच चुके हैं।

प्रगतिशील समाज पार्टी लोहिया (प्रसपा) के प्रदेश अध्यक्ष सुंदरलाल लोधी के नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने बारिश में भिगते हुए हजरतगंज के जीपीओ पार्क में बढ़ी महंगाई पर प्रदर्शन किया। प्रसपा कार्यकर्ताओं ने राज्यपाल के नाम से सिटी मजिस्ट्रेट को एक ज्ञापन भी सौंपा।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने घोषणा की दयाराम पाल समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए है। दयाराम पाल बसपा के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद योगी सरकार ने समाजवादी पार्टी  के लोहिया ट्रस्ट को खाली करा लिया। राज्य संपत्ति विभाग ने कार्रवाई करते हुए कड़ी सुरक्षा के बीच शनिवार को लोहिया ट्रस्ट को अपने कब्जे में ले लिया। 

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल यादव के बीच लड़ाई अंतिम दौर पर पहुंच गई है। लोकसभा चुनाव के बाद अटकले लगाई जा रही थी कि चाचा भतीजे मिलकर 2022 का विधानसभा चुनाव लड़ेंगे लेकिन इस पर अब विराम लग गया है। समाजवादी पार्टी ने विधानसभा अध्यक्ष के यहां याचिका दायर कर शिवपाल सिंह की सदस्यता रद्द करने की मांग की है।

लोकसभा चुनाव में हार के बाद से कयास लग रहे थे समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव अपने चाचा शिवपाल सिंह यादव के साथ गिल शिकवे को मिटा सकते हैं, लेकिन गुरुवार को सपा के एक कदम से सभी कयासों पर विराम लग गया।