thursday

माह- चैत्र, तिथि-नवमी , नक्षत्र-पुनर्वसु,पक्ष- शुक्ल, दिन-बृहस्पतिवार, सूर्योदय-06.20, सूर्यास्त-18.40। जानिए कैसा रहेगा रामनवमी का दिन..

माह- फाल्गुन, तिथि-एकादशी, पक्ष-कृष्ण, दिन बृहस्पतिवार नक्षत्र- पू.षा./ उ.षा, सूर्योदय-06.56, सूर्यास्त-18.05।  12 राशियों के लिए बृहस्पतिवार का दिन कैसा रहेगा। जानते हैं राशिफल...

वार-शनिवार,अयन-उत्तरायन, मास:- माघ, पक्ष- शुक्ल , नक्षत्र-अश्विनी, तिथि-सप्तमी,आज शनिवार है पीपल में जल दें। जानते हैं आज कैसा रहेगा 12 राशियों का दिन..

माह-माघ , पक्ष-शुक्ल, दिन- बृहस्पतिवार, तिथि- पंचमी, नक्षत्र-उत्तरभाद्रपद, सूर्योदय- 7.15, सूर्यास्त-17.52।आज बृहस्पतिवार है आज के दिन केले के पेड़ मेंं जल चढ़ाने से लाभ होता है जानते है 12 राशियों का दिन कैसा रहेगा...

माह- माघ, तिथ- चतुर्दशी, नक्षत्र-पूर्वाषा़ढ़ा, पक्ष- कृष्ण. सूर्योदय-07.22, सूर्यास्त-17.38। आज बृहस्पतिवार भगवान विष्णु की आराधना के लिए सर्वोत्तम दिन है। जानिए कैसा रहेगा 12 राशियों का हाल...

माह –माघ,  तिथि – द्वादशी ,पक्ष –कृष्ण,वार – मंगलवार,नक्षत्र – ज्येष्ठा, सूर्योदय –07.22,सूर्यास्त – 17:39। आज का शुभ मुहूर्त 12.11-12.53। आज मगंलवार बजरंगबली का दिन है। अगर जातक आज सुंदरकांड करेंगे तो लाभ होगा।जानते हैं 12 राशियों के लिए दिन कैसा रहेगा।

माह- माघ, नक्षत्र-हस्त, तिथि- षष्ठी,  पक्ष- कृष्ण,  दिन-बृहस्पतिवार, सूर्योदय-7.21, सूर्यास्त-17.38। आज के दिन जानते है  किस राशि के लिए बढ़िया रहने वाला है तो किसके लिए खराब। कौन परिवार के  साथ खुश तो कौन है दुखी....

माह-पौष, पक्ष-शुक्ल, तिथि-चतुर्दशी, नक्षत्र-मृगशिरा, दिन-बृहस्पतिवार, सूर्योदय-7.20, सूर्यास्त-17.36, चंद्रमा-मिथुन राशि। बृहस्पतिवार को करण-वणिज, और योग ब्रह्म के साथ मृगशिरा नक्षत्र है। इसके कारण आज के दिन कई अशुभ योग बनेगा। तो जानते हैं ऐसे में बृहस्पतिवार किसा राशि के लिए शुभ और किस राशि के लिए अशुभ होगा।

माह पौष, पक्ष-शुक्ल ,पक्ष,वार-बुधवार,तिथि-त्रयोदशी,नक्षत्र- , राहुकाल-12:22 - 13:58, सूर्योदय-7.20 ,सूर्यास्त-17:35 । आज प्रदोष का व्रत है इस व्रत को करने से संतान स्वस्थ रहती है। इसमें भगवान शिव पार्वती समेत गणेश कार्तिक की पूजा होती है।

तिथि-दशमी वार-रविवार, नक्षत्र-अश्विनी, माह-पौष, पक्ष-शुक्ल, सूर्योदय-7.18, सूर्यास्त-17.33। रविवार के दिन सूर्य को जल चढ़ाएं। सूर्यमंत्र का जाप करें।