Vastu tips

सभी माता-पिता अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाने के लिए त्याग करने को तैयार रहते हैं। कुछ बच्चे सरलता से शिक्षा पूर्ण कर लेते हैं लेकिन कुछ को मेहनत के बाद भी शिक्षा में बाधाओं का सामना करना पड़ता है। ऐसा बच्चे की जन्मपत्री मे ग्रह-योग के कारण होता है। और कुछ वास्तु दोष के कारण।

किसी भी घर का वास्तु सम्मत होना, उस घर की उन्नति को बताता हैं। इसलिए घर के सभी कमरों का वास्तु के अनुरूप होना बहुत आवश्यक हैं। खासकर, बच्चों के कमरे का वास्तु सम्मत होना बच्चों के जीवन में सकारात्मकता लेकर आता हैं

आजकल की बदलती जीवनशैली ने हमें शास्त्रों से जुड़ी बातों से दूर कर दिया है। इससे हमें शारीरिक नुकसान भुगतना पड़ रहा है।शास्त्रों में स्वास्थ से जुड़ी कई ऐसी बातें लिखी हैं, जिन्हें आजकल के जमाने में हम नहीं मानते। इस कारण तरह-तरह की गंभीर बीमारियां हो रही हैं। अब बर्तनों को ही ले लीजिए। रसोई में हम जो बर्तन उपयोग करते हैं, उनमें से अधिकतर या तो एल्युमिनियम से बने होते हैं या प्लास्टिक से।

शास्त्रों में रसोई या कहे किचेन का विशेष महत्व कहा गया हैं।  कहते हैं कि जिस घर का रसोई साफ-सुथरा होता है वहां देवताओं का वास माना जाता हैं और इससे उस घर के सदस्यों की अच्‍छी सेहत होती है, जो आर्थिक संपन्‍नता और सफलता से जुड़ी होती हैं।

व्यक्ति को अपने जीवन में कई परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं जिसका संबंध ग्रह दोष से जुड़ा होता हैं। वास्तु के अनुसार व्यक्ति की किस्मत कई चीजों से जुड़ी होती हैं। कुछ घर में वास्तु दोष होने से घर की शांति भंग हो जाती है। वहीं घर में पैसों से जुड़ी परेशानियां झेलनी पड़ जाती है। वास्तुशास्त्र में ऐसी कई चीजें बताई गई है

नए साल की शुरुआत वाकई नए तरीके से होती है तो घर पुराना क्यों रखें। घर को भी नए तरीके से सजाकर फ्रेश लुक दे। घर पर पार्टी ऑर्गेनाइज की है और दोस्तों के साथ ही रिश्तेदारों को भी इंवाइट किया है, तब तो ये डेकोरेशन और भी खास होनी चाहिए। ताकि घर की पार्टी सभी लोग हमेशा-हमेशा याद करें

क्रिसमस ट्री वास्तु दोष निवारण के लिए  खास माना जाता है। चीनी वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की नकारात्मक ऊर्जा को ख़त्म करने के लिए क्रिसमस ट्री खास है। ऐसा माना जाता है कि जिस घर-परिवार में नकारात्मक ऊर्जा का साया  हो वहां

यहां तक की शास्त्रों में कई ऐसे संकेत भी  हैं जो विपत्ति की ओर इशारा करते हैं, ताकि इन्हें  संभला जा सकें। ये संकेत आने वाले समय के शुभ-अशुभ प्रभाव देते हैं। इन्हीं संकेतों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो भविष्य में होने वाली दुर्घटनाओं की संभावना को दिखाते हैं। 

जयपुर:अच्छी जीवनशैली और खानपान के बाद भी घर में लोग एक के बाद एक बीमार होते हैं और उनकी तबियत अधिकतर समय खराब ही रहती हैं। इसके पीछे का कारण वास्तुदोष भी होता हैं। घर में वास्तु का महत्व है और अगर घर वास्तु संगत ना हो तो इसका असर आपके जीवन पर पड़ता हैं। …

जयपुर:वास्तु की संतुष्टि भगवान श्रीगणेश की आराधना के बिना नहीं हो सकती। भगवान गणपति की वंदना कर वास्तुदोषों को शांत किया जा सकता है। जिस घर में नियमित भगवान श्रीगणेश की आराधना होती है वहां वास्तु दोष उत्पन्न होने की संभावना बहुत कम होती है।सारी योग्यताएं होने के बाद भी लोगों को नौकरी नहीं मिलती …