weather department

मौसम केंद्र लखनऊ का पूवार्नुमान है कि 16 व 18 जनवरी को भी बादल छाए रहेंगे और तूफानी हवाओं के साथ तेज बारिश हो सकती है। तापमान में गिरावट आएगी। 18 से 20 जनवरी तक घना कोहरा छाने का भी पूवार्नुमान हैं।

24 दिसंबर को बारिश होने के बाद ठंड और बढ़ जाएगी और पूरे बिहार में कंपाने वाली सर्दी का सितम जारी रहेगा। अभी पूरे दिसंबर अधिकतम तापमान सामान्य से नीचे रहने की ही संभावना है। कुछ दिन और पटना में कोल्ड डे की स्थिति बनी रहेगी।

ठंड का मौसम शुरू हो चुका है और ठंड ने तेजी से रुख बदल लिया है। उत्तर में पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी की वजह से दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में सर्दी बड़ी है।

चक्रवात बुलबुल कोलकाता से 930 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिणपूर्व अवस्थित है और गुरुवार रात को इसके और मजबूत होने की संभावना है। शनिवार को यह और ताकतवर होकर ‘बहुत गंभीर’ श्रेणी में पहुंच जाएगा जिससे समुद्र में स्थिति प्रतिकूल हो सकती है।

दक्षिण भारत में लगातार मौसम करवट ले रहा है। मौसम विभाग ने चेतावनी देते हुए कहा कि अरब सागर में एक अनोखी घटना घट रही है।

मौसम विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है। वैज्ञानिकों का कहना है कि अगले 24 घंटों में कोंकण और गोवा और दक्षिण गुजरात के तटीय जिलों में कई स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

मौसम विभाग ने यह भी बताया है कि बंगाल की खाड़ी पर चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र भी बना है। जल्द ही यह प्रभावी होते हुए एक निम्न दबाव का क्षेत्र बन जाएगा, जिस कारण नमी बढ़ेगी जिससे भारी बारिश होने के आसार बन रहे हैं।

कई इलाकों में 200 मिमी तक बारिश होने का अनुमान है। अरब सागर में 40 से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाओं के बीच 3.5 से 4 मीटर ऊंची लहरें उठ सकती हैं। इसे देखते हुए मछुआराें समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है।

सफदरजंग वेधशाला ने अधिकतम तापमान 44.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जो इस मौसम में अब तका का सर्वाधिक तापमान है। न्यूनतम तापमान 26.8 डिग्री सेल्सियस बना रहा।

मौसम विभाग ने 21 अप्रैल को विभिन्न सूत्रों से मिले आंकड़ों के आधार पर पूर्वानुमान जताया था कि विषुवतरेखीय हिंद महासागर और और दक्षिण बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने के लिए अनुकूल परिस्थितयां हैं।