×

Live: भारत ने चीन को छोड़ा पीछे, कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 86 हजार के पास

लॉकडाउन के बीच भले ही श्रमिक ट्रेनों का संचालन शुरू हो गया हो लेकिन बड़ी तादात में सड़क मार्ग के जरिये घर वापसी कर रहे मजदूरों के साथ हादसों का सिलसिला जारी है।

Shivani Awasthi
Updated on: 16 May 2020 3:13 AM GMT
Live: भारत ने चीन को छोड़ा पीछे, कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 86 हजार के पास
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ: लॉकडाउन के बीच भले ही श्रमिक ट्रेनों का संचालन शुरू हो गया हो लेकिन बड़ी तादात में सड़क मार्ग के जरिये घर वापसी कर रहे मजदूरों के साथ हादसों का सिलसिला जारी है। इसी कड़ी में आज उत्तर प्रदेश के औरैया और मध्य प्रदेश के गुना में सड़क हादसे में कई प्रवासी मजदूरों की जान चली गयी। हांलाकि राज्य सरकारें प्रयास में है कि मजदूरों को किसी तरह की तख़लीफ़ न हो।

Lockdown-3 भारत में कोरोना वायरस

अब देश में कुल कंफर्म केस की संख्या 85940 हो गई है। इसमें से 30153 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 2752 लोग जान गंवा चुके हैं। बीते 24 घंटे में 3722 नए मामले सामने आए और 134 मौतें हुई हैं। साथ ही 1894 मरीज इलाज के बाद ठीक हो गए हैं।


Live Updates

सैकड़ो की संख्या में प्रवासी मजदूर ट्रक में कैद होकर पहुँचे शामली

जनपद में एक ट्रक के माध्यम से सैकड़ों प्रवासी मजदूर ट्रक में शामली पहुंचे तो वहीं भारतीय किसान यूनियन के लोगों ने उनको खाना खिला कर उच्च अधिकारियों से उनके टेस्ट करा कर सुरक्षित सरकारी सुविधा द्वारा उनके घर पहुंचाने के लिए आग्रह किया । वहीं किसान यूनियन नेता का कहना है कि सरकार द्वारा व्यवस्थाएं पूर्ण नहीं है इस महामारी में प्रत्येक व्यक्ति को दूरदराज से आने जाने वाले व्यक्ति को कम से कम दो रोटी जरूर खिलानी चाहिए सरकार की इतनी व्यवस्था होने के बाद भी प्रवासी मजदूरों के सामने वो बहुत कम नजर आ रही है।


बाराबंकी में बढ़ रहे कोरोना मरीज पर आम नागरिकों में दिखी लापरवाही

बाराबंकी में 48 घण्टे के अन्दर कोरोना के 18 नए मरीज सामने आये है लेकिन मरीजों की बढ़ती संख्या के बावजूद जिले में लोग पूरी तरह से लापरवाह है जो एक बड़े खतरे का संकेत हैं। जिले के मुख्य बाज़ार में भीड़ उमड़ी हुई है। लॉकडाउन जैसा कोई नजारा ही नहीं देखने को मिला।

[video width="640" height="352" mp4="https://newstrack.com/wp-content/uploads/2020/05/visual-4.mp4"][/video]

शरफराज वारसी


औरैया हादसे के बाद भी नही जागा इटावा प्रशासन

औरैया एन एच-2 पर भीषण सड़क हादसे में मारे गए प्रवासी मज़दूरों की मौत के बाद भी उसी नेशनल हाई वे 2 पर निजी वाहनों से हजारों की संख्या में मज़दूरों का निकलना जारी है। जबकि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ट्रकों एवं निजी वाहनों पर मज़दूरों के सफर करने को लेकर सख्त नाराज़गी जता चुके है लेकिन स्थानीय प्रशासन ऐसे वाहनों की रोकथाम नही कर पा रहा है।

ये भी पढ़ेंः योगी पर फिल्म बनाएंगे निरहुआ, जानिए कौन निभाएगा सीएम का किरदार

वहीं प्रवासी मजदूरों का कहना है कि उन्हें सरकार द्वारा चलाई जा रही ट्रेनों का टिकट नही मिल पा रहा है जिसके चलते उन्हें निजी वाहनों से या पैदल सफर करना पड़ रहा है।

इस बारे में कानपुर मंडल के कमिश्नर का कहना है कि उन्होंने इटावा एवं औरैया के ज़िलाधिकारी से बात की है और मज़दूरों को लाने ले जाने के लिए और रोडवेज़ की बसों की और संख्या बढ़ाने पर ज़ोर दिया जा रहा है।

उवैश चौधरी


तेजी से बढ़ रही कोरोना मरीजों की संख्या एवं हो रही मौतों से रेड जोन की ओर बढ़ता हुआ जनपद जौनपुर

जौनपुर: देश के महानगरों से ट्रेन, ट्रक, निजी साधन एवं पद यात्रा कर गांवों में जा रहे प्रवासी मजदूरों ने जनपद जौनपुर को अब अरेंज जोन से रेड जोन में पहुंचाने की पूरी संभावना बना दी है। तीन दिन में जनपद के अन्दर कोरोना पाजिटिव मरीजो की संख्या में जबरदस्त बृद्धि हुई है । अब तो कोरोना संक्रमितो की मौतें भी होने लगी है। जिसके कारण अब इस बात की संभावना व्यक्त की जाने लगी है कि जौनपुर रेड जोन घोषित हो सकता है। हलांकि प्रशासन के अधिकारी भी इस आशंका से भयभीत नजर आ रहे है । साथ ही जिला प्रशासन ने अब आदेश निर्गत किया है कि सीमा के थानों की पुलिस यह सुनिश्चित करें कि प्रवासी मजदूरों से भरा कोई भी वाहन जिले के अन्दर प्रवेश न करें। लेकिन जो मजदूर ट्रेन से आ रहे हैं उन्हें कैसे रोका जा सकता है।

यहाँ बतादे कि कि वर्तमान समय में जनपद के अन्दर कोरोना पाजिटिव मरीजों की संख्या 24 पहुंच गयी है। जिसमें जिसमें 8 मरीज ठीक होकर अस्पताल से छोड़े जा चुके है। वहीं जिले में दो करोना संक्रमित मरीजों की मौत हो गयी है जिससे पूरा जनपद दहशत के साये में आ गया है । मरने वाले मरीज भी ग्रामीण क्षेत्रों से रहने वाले हैं और मुम्बई से आये थे।

ये भी पढ़ेंः लॉकडाउन 4.0 होगा ऐसा: बढ़ेगा इतने दिन, जाने अब मिलेगी कितनी छूट-कहां पाबंदी

लाक डाऊन शुरू होने के साथ जिले में एक मरीज असहद 23 मार्च को मिला था इसके बाद जमातियो ने जिले में मरीजों की संख्या पांच तक पहुंचा दिया था। इसके बाद 28 अप्रैल को तीन मरीज कोरोना पाजिटिव मिले इसमें दो मुम्बई से आये थे। फिर 3 मई को एक मरीज सरायख्वाजा क्षेत्र में मिला जिसे प्रशासन ने हरियाणा भेज दिया।

इसके बाद 11 मई को मुम्बई से निजी साधन से जौनपुर आये तीन व्यक्तियो को कोरोना संक्रमण मिला सभी घाट कोपर एवं अंधेरी से आये थे । 13 मई को खुटहन क्षेत्र के शेखपुर सुतौली निवासी सोहन लाल नाविक और 14 मई को बरसठी क्षेत्र के ग्राम हरिद्वार में अच्छे लाल पटेल कोरोना पाजिटिव पाया गया। इसके बाद 15 एवं 16 मई को तो हद हो गई इस दो दिन में 10 मरीज कोरोना पाजिटिव पाये गये ।

सीएमओ डा रामजी पाण्डेय ने बताया कि सभी मरीजों को तत्काल सरकारी साधन से वाराणसी स्थित दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में उपचार के लिए भेज दिया गया है।

इसी तरह सुजानगंज क्षेत्र के दारूनपुर गांव का निवासी राजकुमार 20 साल सूरत से आया थर्मल स्क्रीनिंग के बाद उसे प्राईमरी विद्यालय दारूनपुर में रखा गया था 13/14 मई की रात्रि में उसकी तबीयत अचानक बिगड़ी सुबह अस्पताल ले जाते समय रास्ते में उसकी भी मौत हो गयी ।

ये भी पढ़ेंः प्रवासियों पर हाईकोर्ट की सरकार को लताड़, कही ऐसी बात कि रो देंगे आप

इस तरह जनपद में कोरोना संक्रमितो की संख्या में तेजी से बृद्धि एवं मरीजों को मरने से जिले में अफरा तफरी मच गयी है । सरकारी सूचना के मुताबिक अब तक जनपद में हजारों की संख्या में प्रवासी मजदूरों का आगमन हो चुका है। जिला प्रशासन द्वारा क्वारंटाइन के लिए बनायी गयी व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा उठी है ऐसे में बाहर महानगरों से आने वाले प्रवासी मजदूरों को थर्मल स्क्रीनिंग के बाद सीधे होम क्वारंटाइन के लिए घरों को भेज दिया जा रहा है जो गम्भीर संकट का संकेत दे रहा है।

रिपोर्ट-कपिल देवमौर्य, जौनपुर

दो कोरोना पॉजिटिव मिलने के साथ ही जिले में संख्या हुई छः

अम्बेडकरनगर: जिले में कोरोना पीड़ितों का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। शनिवार को आई रिपोर्ट में दो और लोगों के कोरोना पाजिटिब होने की पुष्टि हुई है। यह दोनों दस मई को मुम्बई से आये थे तथा 12 मई को इनके सैम्पल को जांच के लिए भेजा गया था। रिपोर्ट आते ही प्रशासनिक अमले ने जलालपुर तहसील के भियांव विकास खण्ड अन्तर्गत पैकोली बाजार में पंहुच कर एक किलोमीटर के क्षेत्र को सील करने की प्रक्रिया प्रारम्भ कर दी। पैकोली बाजार जिले का तीसरा हाटस्पाॅट केन्द्र बन गया है। कोरोना पीड़ित महिला की ससुराल आजमगढ़ जिले फूलपुर में है लेकिन वह मुम्बई से आने के बाद मायके में ही रूक गई थी। जांच रिपोर्ट में एक युवक को भी पाजिटिब पाया गया है जो पैकोली बाजार का ही निवासी है।

यह दोनों लोग अन्य 12 लोगों के साथ बाजार से सटे प्राथमिक विद्यालय परिसर में एकांतवास में रह रहे थे। स्वास्थ्य विभाग ने एकांतवास में उनके साथ रहे सभी लोगों की सैम्पलिंग कराने का निर्णय लिया है। उपजिलाधिकारी तथा क्षेत्राधिकारी के साथ स्वास्थ्य महकमे की टीम बाजार में मौजूद है। उपजिलाधिकारी महेन्द्र वर्मा के अनुसार एक किलोमीटर की परिधि में आने वाले गांवो व बाजार में किसी भी बाहरी व्यक्ति का प्रवेश तथा इन गांवो के लोगों का बाहर जाना अग्रिम आदेश तक प्रतिबंधित रहेगा। सीएचसी जलालपुर प्रभारी डाॅ0 वी0के0 यादव ने कोरोना पीड़ित मिलने की पुष्टि की है। अब जिले में कोरोना मरीजों की संख्या छः हो गई है।

अयोध्या के विकास खण्ड मवई तहसील रूदौली में एक व्यक्ति कोरोना संक्रमित

अयोध्या: 15 मई को ग्राम जुनेदपुर विकास खण्ड मवई तहसील रूदौली में एक व्यक्ति कोरोना संक्रमित मिला, दूसरा संक्रमित व्यक्ति ग्राम रानोपाली के बाबा का पुरवा विकास खण्ड पूरा बाजार तहसील सदर तथा तीसरा कोरोना संक्रमित व्यक्ति तहसील व विकास खण्ड मिल्कीपुर के ग्राम नरेन्द्रा भादा में मिला है।

तीनो संक्रमित व्यक्ति के ग्राम को उनके आवास से 01 कि0मी0 की परिधि को कन्टेन्मेंट जोन तथा 03 कि0मी0 की परिधि को बफर जोन घोषित किया गया है। उक्त तीनो ग्रामो में मिले संक्रमित व्यक्ति के घर से 01 कि0मी0 की परिधि में पड़ने वाले घरो व प्रतिष्ठानो को विसंक्रमित करने की कार्यवाही प्रारम्भ कर दी गई है तथा उक्त तीनो क्षेत्रो को 6-6 सेक्टर में बांटकर 6-6 टीमें सर्विलांस व विसंकर्ण हेतु लगा दी गई है। प्रत्येक टीम में एक लेखपाल दो स्वास्थ्य कर्मी तथा दो सफाई कर्मी कुल 90 कर्मचारियो को सर्वे हेतु लगा दिया गया जो सर्वे व क्षेत्र को विसंक्रमित करने का कार्य किया जा रहा है।

ये भी पढ़ेंः श्रमिकों को लेकर प्रदेश में आई गुजरात से 223 ट्रेन, महाराष्ट्र से 97, पंजाब से 78

कोरोना महामारी से निपटने के लिए स्थानीय स्तर पर ग्राम व मोहल्ला निगरानी समितियों का गठन किया गया था लेकिन प्रवासी मजदूरों की संख्या के आधार पर इन समितियों के पास संसाधन के अभाव के कारण काफी निष्क्रिय सी लग रही है जहां पर संख्या बल इन प्रवासी मजदूरों की अधिक है।

वहां गांव के लोग भी इन्हें गांव में रहने से मना कर रहे हैं जबकि तमाम इन प्रवासी मजदूरों के पास आवासीय मकान नहीं है गांव स्तर पर अव्यवस्थाओं का बोलबाला है। अनेक गांव में समाचार मिल रहे हैं इन प्रवासी मजदूरों को लेकर लोग अपने को असुरक्षि महसूस करते हुए झगड़ा करने के लिए आमादा हो गए हैं और मौके पर पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ रहा है!

अयोध्या मंडल के आयुक्त एमपी अग्रवाल ने भी मोहल्ला व ग्राम समितियों की निष्क्रियता पर निरीक्षण के दौरान आपत्ति जताते हुए कई दिशा निर्देश दिए थे।

जनपद अयोध्या में मिले तीन कोरोना संक्रमित व्यक्ति के ग्रामो में तैनात किये गये सभी अधिकारी एवं कर्मचारी के साथ सर्वे एवं क्षेत्र विसंक्रमित करने हेतु लगायी गई टीमो को बचाव हेतु जिला मजिस्ट्रेट अनुज कुमार झा ने स्वंय किया प्रशिक्षित। हाट-स्पाट स्थल पर सर्वे, थर्मल स्क्रीनिंग व डिसन्फेक्शन टीमो द्वारा अपनाई जाने वाली सावधानियो के बारे में विस्तार से समझाया।

जिला मजिस्ट्रेट द्वारा वे सभी उपाय विस्तार से बताये गये जो सर्वे में जाने के पूर्व व सर्वे के दौरान तथा उसके पश्चात अपनाया जाना है। उन्होंने टीम के सदस्यो को विशेष मंत्र दिया कि सावधानी ही बचाव है। उन्होंने टीम को विशेष तौर पर बताया कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने वाले व्यक्तियो के बारे में पता करना है ताकि उन्हें 14 दिन के लिए कोरंटाइन किया जा सके।

रिपोर्ट-नाथ बख्श सिंह

कोरोना संक्रमण से नोएडा में 5 वी मौत

नोएडा: गौतम बुद्ध नगर में कोरोना वायरस से एक और मौत हो गई। नोएडा के सेक्टर 8 निवासी एक बुजुर्ग ने शुक्रवार की रात राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान में अंतिम सांस ली। अब तक जिले में कोरोना वायरस से 5 लोगों की जान जा चुकी है।

गौतम बुद्ध नगर जिले में कोरोना संक्रमण से मरने वालों का सिलसिला थम नहीं रहा है। शुक्रवार की रात राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान (जिम्स) में भर्ती 61 वर्षीय शमसुद्दीन की मौत हो गई। वह नोएडा के सेक्टर 8 में रहते थे। वह दो दिन से जिम्स में भर्ती थे। जिला सर्विलांस अधिकारी सुनील दोहरे ने बताया कि शुक्रवार की रात बुजुर्ग की मौत हुई है।

आपको बता दें कि नोएडा शहर में कोरोनावायरस के कारण यह पांचवी मौत हुई है। इससे पहले नोएडा के सेक्टर-22, सेक्टर-66, सेक्टर-19 और सेक्टर-150 में पिछले सप्ताह 4 बुजुर्गों की मौत हुई थी। इनमें से 2 मौत ग्रेटर नोएडा के राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान में हुई हैं। जबकि एक बुजुर्ग की मौत शारदा अस्पताल में हुई।

ये भी देखें: विराट ने देखी पाताल लोक: देख कर दिया ये रिएक्शन, अनुष्का के बारे में कहा ऐसा

दूसरी ओर गौतम बुद्ध नगर जिले में कोरोनावायरस से पीड़ित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग की ओर से जानकारी दी गई है कि नोएडा के चार और लोग कोरोनावायरस से पीड़ित पाए गए हैं।

भारत ने चीन को छोड़ा पीछे कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 85940

कोरोना वायरस के खिलाफ भारत की जंग जारी है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शनिवार सुबह 9:15 बजे दिए गए अपडेट के मुताबिक, देश में कोरोना मामलों की संख्या बढ़कर 85940 हो गई है। अभी 53035 एक्टिव केस हैं। संक्रमण के मामले में भारत ने चीन को पीछे छोड़ दिया है, जहां अब तक 82,933 कोरोना मरीज सामने आए हैं। हालांकि, भारत में चीन के मुकाबले मृत्यु दर कम है। ऐसे में एक्सपर्ट्स भारत में कोरोना वायरस के सेकंड वेब की आशंका जता रहे हैं।

ये भी देखें: न देखा जाएगा ये: करुण क्रंदन और चीत्कार, पीछे छूट गई घर वालों की पुकार

कोरोना वायरस पिछले साल चीन के वुहान शहर से दुनिया में फैला था। चीन के आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, वहां कोविड-19 के 82,933 मामले सामने आए थे। चीन में 4,633 लोगों की कोरोना वायरस से मौत हुई थी, जबकि 78,000 से अधिक लोग संक्रमण मुक्त होकर घर लौट चुके हैं। वहीं, भारत में अभी कोरोना के 53035 एक्टिव केस हैं। कोरोना से देशभर में अब तक 2752 मरीजों की जान गई है। राहत की बात ये है कि 30152 लोग ठीक भी हुए हैं।

दिल्ली में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 9 हजार के पार

दिल्ली में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 9333 हो गई है। पिछले 24 घंटे में 6 लोगों की जान हुई है, जबकि रविवार देर रात तक कोरोना के 438 नए मामले सामने आए थे।दिल्ली में पिछले 24 घण्टे 408 मरीज ठीक हुए, अबतक कुल 3926 मरीज ठीक हो चुके हैं। बता दें कि राजधानी में अब 5278 एक्टिव केस हैं।

असम में कोरोना मरीजों की संख्या 90 के पार

असम में शनिवार को कोरोना के 2 नए केस सामने आए हैं, जिसके साथ राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 91 पहुंच गई है। वहीं अब तक 2 कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है, जबकि 41 मरीज ठीक भी हो चुके हैं। कर्नाटक में अब कोरोना के 46 एक्टिव केस हैं।

ये भी देखें: यहां आया बड़ा संकट: भारी संख्या में नर्सों ने दिया छोड़ा काम, विभाग में मचा हड़कंप

कर्नाटक में कोरोना से अब तक 36 लोगों की मौत

कर्नाटक में शनिवार को कोरोना के 23 नए केस सामने आए हैं, जिसके साथ राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 1079 पहुंच गई है। वहीं अब तक 36 कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है और 494 मरीज ठीक होकर अस्ताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं। कर्नाटक में अब कोरोना के 548 एक्टिव केस हैं।

बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या पहुंची 1079

बिहार में शनिवार को अब तक कोरोना के 26 नए मामले सामने आए हैं, जिसके साथ राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 1079 पहुंच गई है।

दिल्ली में अब तक 168 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित, एक की मौत

राजधानी दिल्ली में कोरोना के मरीजों की संख्या 9 हजार के करीब पहुंच गई है। दिल्ली पुलिस के जवान और अधिकारियों को भी कोरोना ने अपनी चपेट में ले रखा है। तीन दिनों के अंदर दिल्ली के थाने के एक और SHO कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जमिया पुलिस स्टेशन के SHO कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। दरअसल, कुछ दिन पहले जमिया पुलिस स्टेशन का एक पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। जिसके बाद SHO, ACP समेत कई लोगों का टेस्ट हुआ था। SHO की रिपोर्ट शुक्रवार को आई, जो पॉजिटिव है। इससे पहले उत्तर नगर, लाजपत नगर और नॉर्थ एवेन्यू थाने के SHO कोरोना संक्रमित पाए गए थे।

ये भी देखें: न देखा जाएगा ये: करुण क्रंदन और चीत्कार, पीछे छूट गई घर वालों की पुकार

औरैया हादसा

औरैया हादसे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख और घायलों को 50 हजार रुपये देने का एलान किया है।



ये भी पढ़ेंः औरैया हादसा: ‘एक कप चाय’ बनी अमृत वरदान, कई मजदूरों की ऐसे बचाई जान


विश्व में कोरोना मामलों में भारत 11वें नंबर पर, चीन को भी छोड़ा पीछे

कोरोना से बीमार मरीजों की संख्या के मामले में भारत अब चीन से आगे निकल गया है। मरीजों की संख्या को लेकर भारत अब दुनिया में 11वें नंबर पर पहुंच गया है। भारत में कोरोना मरीजों की कुल संख्या साढ़े 85000 से ऊपर पहुंच चुकी है जबकि चीन में अब तक कोरोना के 82933 मरीजों का पता लगा है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़े: कोरोना मरीजों के मामले में चीन से आगे निकला भारत, दुनिया में 11वें नंबर पर पहुंचा


राजस्थान में कोरोना के 91 नए मामले

राजस्थान में अबतक कोरोना वायरस के 91 नए मामले सामने आए है। सर्वाधिक 55 मामले राजधानी जयपुर में सामने आए, जिसमें 48 मामले अकेले सेंट्रल जेल के हैं। डूंगरपुर में 21, उदयपुर में 9, सिरोही में 2, कोटा, झुंझुनू, भरतपुर और सिरोही में 1-1 मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही प्रदेश में कोरोना पीड़ितों की तादाद 4838 पहुंच गई है।


कोरोना से ये राज्य सबसे ज्यादा प्रभावित

महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात, दिल्ली, राजस्थान, मध्य प्रदेश, यूपी, बंगाल, आंध्र प्रदेश, पंजाब, तेलंगाना में कोरोना के ज्यादा केस सामने आए हैं, लेकिन महाराष्ट्र राज्य कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित है।

ये भी पढ़ेंः फिर गई मजदूरों की जान: 36 घटों में दूसरा बड़ा हादसा, इतनी मौतों से MP में हड़कंप


महाराष्ट्र में कोरोना वायरस:

महाराष्ट्र अब तक 29 हजार से ज्यादा कोरोना के मामले सामने आये हैं। बीते 24 घंटे में 1,576 नए केस सामने आए हैं, जबकि 49 लोगों की मौत हुई है। है. अकेले मुंबई में 17 हजार 671 मामले हो चुके हैं। अकेले मुंबई में 24 घंटों में 933 नए मामलों की पुष्टि हुई है। इसके अलावा मुंबई में कोरोना से अब तक 655 लोगों की मौत हो चुकी है।

ये भी पढ़ेंः उम्मीद के स्टेशन पर पहुंची स्पेशल ट्रेन…! सूरत में सरकार की मूरत बिगाड़ दिया दलालों ने


उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस

उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना से संक्रमण के 159 नए मामले सामने आए हैं। अब प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या 4000 के पार पहुंच गई है। शुक्रवार को कुल 123 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज भी किए गए। राज्य में अब 2165 मरीज पूरी तरह ठीक हो चुके हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story