business

एसबीआई  में फिक्स्ड डिपॉजिट करने की सोच रहे हैं तो फिर नए रेट के बारे में जान लें। बैंक ने एक साल से लेकर दो साल से कम की अवधि वाली एफडी पर ब्याज दर में 0.20 फीसदी की कटौती की है।

दिल्ली  की मंडी में टमाटर का खुदरा दाम 80 से 85 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गया है। खुदरा व्यवसायियों  के अनुसार उत्पादक क्षेत्रों से आपूर्ति कम रहने की वजह से टमाटर महंगा हो गया है।

घरेलू बाजार में सोने की कीमतें लगातार बढ़ गई हैं। दिल्ली सर्राफा बाजार में 10 ग्राम सोने के दाम 251 रुपये तक बढ़ गए हैं।वहीं, एक किलोग्राम चांदी की कीमतें 261 रुपये बढ़ी हैं।  विदेशी बाजारों में आज सोना खरीदना सस्ता हुआ है।

बीपीसीएल (BPCL )में कुल 52.98 फीसदी हिस्सा केंद्र सरकार भारत पेट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड  में  बेचने जा रही है। निजीकरण से पहले कंपनी ने बड़ा ऐलान

ई0 आसिफ चौहान ने सरकार की फ्लैगशिप योजना स्टार्टअप इंडिया योजना के बारे में जिला उद्योग केन्द्र से जानकारी प्राप्त कर डबल विन्डो कूलर बनाने का अपना प्रोजेक्ट वेबसाईट पर अपलोड कर पेटेन्ट कराया।

 सोने की कीमतों में जारी तेजी पर फिर से ब्रेक लग गया है ।अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आई गिरावट की वजह से घरेलू बाजार में सोने के दाम गिर गए। बुधवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना  600 रुपये प्रति दस ग्राम से ज्यादा सस्ता हो गया है। वहीं, एक किलोग्राम चांदी  के दाम 3000 रुपये से ज्यादा टूट गए।

पिछले कुछ दिनों से सोने की कीमतों में तेजी देखी जा रही है। शुक्रवार को दिल्ली में सोने की कीमतें सबसे उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है। दिल्ली में 10 ग्राम सोने के दाम 55 हजार रुपये के करीब पहुंच गए है। चांदी कीमत एक दिन में 2,854 रुपये प्रति किलोग्राम तक बढ़ी है।  

भारतीय रिजर्व बैंक ने चेताया है कि बैड लोन यानी एनपीए (NPA) कोरोना वायरस महामारी की वजह से 20 साल के सबसे उच्चतम स्तर पर पहुंच सकता है। आरबीआई के अनुसार बैड लोन मार्च 2020 में 8.5 फीसदी से मार्च 2021 तक 12.5 फीसदी तक पहुंच सकता है।

अटल पेंशन योजना केंद्र सरकार की बहुत ही महत्वाकांक्षी योजना है। इसके तहत रोजाना 7 रुपये बचाकर 60 साल के बाद हर महीने 5,000 रुपये की पेंशन प्राप्‍त कर सकते हैं।

अशोक सिंह मुंबई . जब जीना अब कोविड-19 के साथ ही है, तो व्यापार भी अब इसके साथ ही करना होगा। व्यापार करने का तरीका थोड़ा बदल सकता है, स्वास्थ्य एवं स्वच्छता पर जोर होगा। इन बदलते समीकरणों का व्यापारिक दुनिया पर क्या और कैसा असर पड़ेगा यह तो समय ही बताएगा। लेकिन एक बात …