U-TRUN: RSS पर दिया बयान नहीं बदलेंगे राहुल, करेंगे मुकदमे का सामना

congress

नई दिल्ली: राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर दिए गए बयान पर मानहानि का केस झेल रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने फिर से यू-टर्न लिया है। सुप्रीम कोर्ट में वो अपने बयान पर कायम रहे। कोर्ट में राहुल का पक्ष रख रहे वकील कपिल सिब्ब्ल ने कहा कि राहुल गांधी अपना बयान बदलने के लिए तैयार नहीं हैं। इतना ही नहीं वो केस भी लड़ने के लिए तैयार हैं। अब निचली कोर्ट में उनपर मानहानि का मुकदमा चलेगा। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष के वकील कपिल सिब्बल की यह अपील खारिज कर दी कि लोअर कोर्ट में मामले की सुनवाई के दौरान मौजूद रहने से उन्हें छूट दी जाए।

यह भी पढ़ें … SC में नरम पड़े राहुल, कहा-RSS नहीं, कुछ लोगों को बताया था गांधी का हत्यारा

इस मामले में  आरएसएस का कहना है कि  कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ केस वापस ले लिया जाएगा यदि वह सार्वजनिक रूप से यह कहें कि उन्होंने महात्मा गांधी की हत्या के लिए एक संस्थान के रूप में आरएसएस को दोषी नहीं ठहराया था।

राहुल ने खटखटाया था सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने राहुल गांधी पर मानहानि का केस हुआ है। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने इस मामले को खारिज करने की मांग के साथ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। बाद में उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से याचिका वापस ले ली और गुरुवार को कोर्ट ने याचिका पर सुनवाई खत्म कर दी।

क्या दिया था राहुल गांधी ने बयान ?
राहुल गांधी ने 6 मार्च, 2014 को महाराष्ट्र के भिवंडी में एक चुनावी रैली के दौरान कहा था कि महात्मा गांधी की हत्या राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लोगों ने की थी। इसके बाद संघ की भिवंडी इकाई के सचिव राजेश कुंटे ने राहुल के ख़िलाफ मानहानि का मामला दर्ज कराया था। उनके मुताबिक, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने भाषण के जरिए संघ की गरिमा और प्रतिष्ठा को चोट पहुंचाने की कोशिश की। हाालांकि बाद में राहुल गांधी अपने बयान पलट गए थे। राहुल के वकील ने पिछली सुनवाई में कहा था कि उन्होंने संस्था पर आरोप नहीं लगाया था।

 

    Tags: