Budget 2019: सरकार के पास कहां से आता है पैसा और कैसे करती है खर्च?

सरकारी खजाने में आने वाले प्रत्येक एक रुपये में 68 पैसे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष करों से आएगा जबकि खर्च के तौर पर करों और शुल्कों में राज्यों का हिस्से में सबसे ज्यादा 23 पैसे जाएंगे।

नई दिल्ली: सरकारी खजाने में आने वाले प्रत्येक एक रुपये में 68 पैसे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष करों से आएगा जबकि खर्च के तौर पर करों और शुल्कों में राज्यों का हिस्से में सबसे ज्यादा 23 पैसे जाएंगे। बजट दस्तावेजों में यह बताया गया है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा संसद में शुक्रवार को पेश 2019-20 के बजट में केंद्र सरकार को मिलने वाले प्रत्येक एक रुपये में माल एवं सेवा कर की वसूली से 19 पैसे प्राप्त होंगे। वहीं कंपनी कर का योगदान 21 पैसे अनुमानित है।

ये भी पढ़ें…योगी आदित्यनाथ ने बजट 2019 को बताया शानदार, पीएम मोदी को दिया श्रेय

इन जगहों से सरकार के पास आता है पैसा

उदाहरण से समझिए। अगर सरकार के पास 1 रुपए की कमाई होती है तो यह पैसा निम्नलिखित मदों से आता है-
-उधार और अन्य देयताएं (Borrowings & Other Liabilities) : 21 पैसा
-ऋण-भिन्न पूंजी प्राप्तियां (Non-debt Capital receipts): 3 पैसा
-कर-भिन्न राजस्व (Non-Tax Revenue): 13 पैसे
-सेवा कर और अन्य कर (Service Tax & Other taxes): 9 पैसा
-केंद्रीय उत्पाद-शुल्क (Union Excise Duties): 12 पैसा
-सीमा शुल्क (Customs): 9 पैसा
-आयकर (Income Tax) :14 पैसे
-निगम-कर (Corporation-Tax): 19 पैसे
यानी सरकार अगर 1 रुपए (100 पैसे) की कमाई करती है तो….
 1. 79 पैसा प्राप्तियां (Receipts)
 2. 21 उधार (Borrowings)

ये भी पढ़ें…बजट 2019: 3 करोड़ से ज्यादा छोटे दुकानदारों को मिलेगी पेंशन, 59 मिनट में मिलेगा लोन

किन-किन मदों में पैसा खर्च करती है सरकार?

सरकार को अगर एक रुपए की कमाई होती है तो वो इसे इन मदों में खर्च करती है….
 राज्य और संघ राज्य क्षेत्र की सरकारों को आयोजना-भिन्न सहायता (Non-Plan Assistance to state & UT Govts.): 5 पैसे
 करों और शुल्कों में राज्यों का हिस्सा (States share of taxes & duties): 23 पैसे
 अन्य आयोजना-भिन्न व्यय (Other Non-Plan Expenditure): 12 पैसा
 आर्थिक सहायता (Subsidies): 10 पैसे
 रक्षा (Defence): 10 पैसे
 केंद्रीय आयोजना (Central Plan): 12 पैसा
 संघ और राज्य क्षेत्रों को आयोजना सहायता (Plan Assistance to State & UT): 9 पैसा
 राज्यों और संघ राज्य क्षेत्रों को अंतरण (Transfers to States & UTs): 37 पैसे