कर्ज से है परेशान तो इस नवरात्रि करें यह उपाय, मिलेगा आपको लाभ

Published by suman Published: March 16, 2018 | 7:04 am

जयपुर: चैत्र नवरात्रि18 मार्च 2018 ( रविवार) से शुरू हो रही है। चैत्र नवरात्रि 18 मार्च से 25 मार्च तक रहेगी। इस बार चैत्र नवरात्रि में कुछ खास संयोग बन रहा है। चैत्र नवरात्रि इस बार 8 दिनों की ही होगी क्योंकि इस बार सप्तमी और अष्टमी तिथि एक ही दिन पड़ रही है। चैत्र नवरात्रि में कर्ज से मुक्ति पाने के लिए भी शास्त्रों में कई उपाय हैं।

चैत्र नवरात्रि के दौरान कच्चे आटे की लोई बना लें। इस लोई में गुड़ भरकर पानी बहते हुए पानी में प्रवाह करने से कर्ज से मुक्ति मिलती है। साथ ही यदि कहीं पैसों के लेनदेन में परेशानी आ रही है तो उसके लिए भी यह उपाय बेहद खास है। चैत्र नवरात्रि की अवधि में कौड़ी और हर-सिंगार की जड़ को रोली, अक्षत, पुष्प, धूप, दीप से पूजन करके धारण कर लें। ऐसा माना जाता है कि यह उपाय आपको कर्ज से मुक्ति पाने के लिए अत्यंत लाभदायक है।

यह पढ़ें…16 मार्च को किसे होगा प्यार, कौन करेगा तकरार, जानने के लिए पढ़ें राशिफल

इस नवरात्रि में अष्टमी के दिन एक लाल कपड़ा लें, इसमें पांच गुलाब के फूल, चांदी का टुकड़ा और गुड़ रखकर 21 बार गायत्री मंत्र का पाठ करें और पानी में बहा दें। इससे आपको कर्ज से मुक्ति मिलने लगेगी। कर्जे से मुक्ति पाने के लिए केले के पेड़ की जड़ में चावल, रोली, फूल और पानी अर्पित करें। इसके बाद नवमी वाले दिन पेड़ की थोड़ी सी जड़ को अपनी तिजोरी में रखें।  लौंग और कपूर से भी आप उपाय कर सकते हैं।

कमल के फूल की पत्तियां लें। अब इन पर मक्खन व मिसरी लगायें। अब 48 लौंग व 6 कपूर की माता को आहूति दें। मान्यता है कि ऐसा करने से जल्द ही कर्ज का बोझ कम होने लगता है। नवरात्रि के दिन माता को इत्र अर्पित करना चाहिए। कहा जाता है कि इसके बाद मां दुर्गा को इत्र अर्पित करने के बाद उस इत्र को मां का आशीर्वाद समझकर उसे इस्तेमाल करना चाहिए।

यह पढ़ें…18 मार्च से शुरू होगा चैत्र नवरात्रि, जानिए कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त

नवरात्रि के दिन मां आपके घर मेहमान बनकर आती हैं। इसलिए नवरात्रि के दिन व्रत में आप अपने लिए जो बनाएं उसका मां दुर्गा को पहले भोग लगाएं। इसके अलावा घर में आने वाले मेहमानों को भी बिना खिलाएं जाने न दें। अगर परिवार में कोई सदस्य बीमार है तो नवरात्रि में शिवलिंग पर काले तिल और जल अर्पित करना चाहिए। कहा जाता है कि इससे परिवार के लोगों के सभी कष्ट दूर होते हैं। साथ ही इसके अतिरिक्त लम्बे समस से चली आ रही धन से संबंधित समस्या से जल्द ही मुक्ति मिलती है।