महिलाओं ने ही नहीं नौनिहालों ने भी तोड़ी शराब की बोतलें, पुलिस-प्रशासन के खिलाफ की नारेबाजी

Published by Published: April 6, 2017 | 12:26 pm

शामली: योगी सरकार आने के बाद पूरे प्रदेश मे शराब बंदी के लिए एड़ी-चोटी का ज़ोर लगाया जा रहा है। जगह-जगह पर महिलाएं शराब की दुकानों पर धावा बोल रही हैं। ऐसा ही हुआ है शामली में थाना क्षेत्र के पूर्वी यमुना नहर पर शराब का ठेका खोले जाने को लेकर आक्रोशित महिलाओं ने ठेके पर तोड़फोड़ करते हुए शराब को नष्ट कर दिया।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने महिलाओं को समझा बुझाकर शांत किया। इस संबंध में सेल्समैन द्वारा कुछ लोगों के खिलाफ नामजद तहरीर देकर लूट व तोड़ फोड़ कर लाखों रुपए का नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया है।

दूसरी जगह लगाया गया था शराब का ठेला
जिला शामली के कांधला कस्बे में कॉलेज के समीप शराब का ठेका खोले जाने के विरोध को लेकर ठेकेदार ने हाईवे से 800 मीटर की दूरी पर शराब का ठेका खोलकर सेल्स का कार्य शुरु कर दिया था। बुधवार को मामले को लेकर आक्रोशित दर्जनों महिलाओं ने स्थापित किए गए शराब के ठेके पर हल्ला बोल दिया और प्रदर्शन करते हुए शराब ठेकेदार का घेराव किया। शराब ठेका हटाने की मांग की गई।

दर्ज करवाई है शिकायत उत्पातियों के खिलाफ
-ठेकेदार द्वारा समझाने का प्रयास करने पर आक्रोशित महिलाओं ने ठेके का ताला तोड़कर उसमें रखी लाखों रुपयों की कीमती शराब को सड़क पर लाकर लाठी-डंडों से तोड़ दिया।
-मामले की सूचना 100 डायल के साथ पुलिस को दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर महिलाओं को समझा-बुझाकर शांत किया। जिसके चलते महिलाएं लौट गईं।
-इस संबंध में शराब ठेकेदार रोमी के द्वारा आधा दर्जन पुरुष व दर्जनों महिलाओं के विरुद्ध नामजद तहरीर देकर लूट व तोड़ फोड़ करने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है।
-मामले में थाना प्रभारी निरीक्षक नरेश कुमार सिंह का कहना है कि किसी भी कीमत पर अराजक तत्वों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। मामले की जांच कर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

-सुप्रीम कोर्ट ने हाईवे किनारे से शराब की दुकानें हटाने का निर्देश दिया था।
-इसके चलते आबकारी और पीडब्लूडी की टीम ने ऐसी 57 दुकानों को चिह्नित किया था, जिन्हें हाईवे किनारे से हटाया जाना था।
-उनमें से 29 दुकानों को दूसरे स्थान पर शिफ्ट कराया जा चुका है, लेकिन 28 दुकानों को शिफ्ट करने में दिक्कत आ रही है।
-कुछ दुकानों के लिए स्थान नहीं मिल पा रहा है तथा विवाद की स्थिति लगातार बढ़ रही है।

-शराब की दुकानें नए स्थान पर खोलने को लेकर कैराना, शामली और अब कांधला में विवाद गरमा रहा है।
-कैराना में पानीपत-खटीमा हाईवे से हटाई दुकान को एक मोहल्ले के पास शिफ्ट किया जाना था, लेकिन विरोध के चलते दुकान शिफ्ट नहीं हो पाई।
-मोहल्ला रेलपार में कुड़ाना रोड पर दुकान स्थानांतरित करने को लेकर कलक्ट्रेट में प्रदर्शन कर चुके हैं।
-अब कांधला में दुकान नए स्थान पर शिफ्ट करने के विरोध पर हंगामा खड़ा हो गया है।

आगे की स्लाइड में देखिए किस तरह मेरठ में भी फूटा शराब पर महिलाओं का गुस्सा

शराब को लेकर चारो तरफ हंगामा चल रहा है। यह विवाद बढ़ता ही नजर आ रहा है। तो वहीं मेरठ में शराब की बोतले तोड़ने में नौनिहाल भी महिलाओं का साथ दे रहे हैं।
डूंगर गांव में चला हंगामा
-रोहटा के डूंगर गांव में महिलाओं ने पुलिस को भी नहीं छोड़ा।
-महिलाओं ने ठेके पर ताला लगा दिया, जब पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो उन्हें वहां से भगा दिया।
-गांव के ही धर्मवीर ने गांव में देसी शराब का ठेका खोल दिया है।
-महिलाओं ने ठेका खोले जाने का विरोध किया है।
-जबकि ठेका संचालक का कहना है कि पूरी कागजी कार्यवाही के बाद ठेका खोला गया है।

क्या बोली महिलाएं
-महिलाओं का साफ कहना है कि गांव में ठेका खुलने से माहौल बिगड़ गया है।
-यहां बच्चों को तक को शराब बेची जा रही है।
-महिलाओं ने ठेका संचालक धर्मवीर को पकड़ कर धुन दिया।
-जबकि ठेके में रखी बोतलों को उठाकर बाहर का फेंक दी।
-मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थिति का संभालने का प्रयास किया, तो पुलिस को वहां से भगा दिया।
-जबकि ठेके में भी महिलाओं ने आग लगाने का प्रयास किया है।
-देर रात तक महिलाएं पुलिस-प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए डटी रही।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App