दीपक सिंघल के बड़बोलेपन से आखिर नाराज हो ही गए मुख्यमंत्री अखिलेश

कार्यक्रम के दौरान सीएस कुछ कह रहे थे और उस वक्त अखिलेश अपने सलाहकार आलोक रंजन के साथ कुछ गंभीर बात कर रहे थे। दीपक सिंघल अपने कटाक्षों से यहां भी नहीं चूके और कह दिया , ‘सलाहकार जी आपकी गुफ्तगू से ज्यादा मेरी बात महत्वपूर्ण है ।पहले उसे सुन लीजिए ।’ अखिलेश यादव और आलोक रंजन ने उस वक्त बात हंस कर टाल दी। लेकिन उनका कटाक्ष सीएम को अंदर तक कुरेद गया। सीएम के विश्वसनीय सूत्रों ने न्यूज ट्रैक से कहा कि अखिलेश सीएस से नाराज हैं।

Published by zafar Published: August 18, 2016 | 6:53 pm
Modified: August 23, 2016 | 7:55 am
deepak singhal
लखनऊ: यूपी के सीएम अखिलेश यादव व्यक्तिगत रुप से अच्छे इंसान हैं और जल्दी चीजों को दिल पर नहीं लेते । लेकिन सीएस दीपक सिंघल के लगातार अनर्गल बयानों और कटाक्षों ने उन्हें नाराज कर ही दिया । किसी भी तरह से देखा जाए तो बर्दाश्त की एक सीमा होती है।
अखिलेश यादव ने दीपक सिंघल के कुछ बयानों को तो गंभीरता से नहीं लिया था। लेकिन बुधवार को एक कार्यक्रम के दौरान उनकी टिप्पणी सीएम को ऐसी नागवार गुजरी कि वो बुरी तरह से नाराज हो गए।  बुधवार को अखिलेश यादव के छात्राओं को कन्या विद्याधन योजना के तहत कार्यक्रम के दौरान सीएस कुछ कह रहे थे और उस वक्त अखिलेश अपने सलाहकार आलोक रंजन के साथ कुछ गंभीर बात कर रहे थे।
दीपक सिंघल अपने कटाक्षों से यहां भी नहीं चूके और कह दिया , ‘सलाहकार जी आपकी गुफ्तगू से ज्यादा मेरी बात महत्वपूर्ण  है ।पहले उसे सुन लीजिए ।’ अखिलेश यादव और आलोक रंजन ने उस वक्त बात को संभाल लिया और हंस कर दीपक सिंघल की बात टाल दी। लेकिन उनका कटाक्ष सीएम को अंदर तक कुरेद गया ।सीएम के विश्वसनीय सूत्रों ने न्यूज ट्रैक से कहा कि बुधवार को हुई घटना के बाद अखिलेश यादव नाराज हैं।
दीपक सिंघल लगातार बिना समझे जाने या जानूझकर सीएम और वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ टिप्पणी करते रहे हैं । उन्होंने श्रावस्ती के एक कार्यक्रम में अखिलेश यादव को दिल और दिमाग से बच्चा करार दिया था ।
दीपक सिंघल अपने जूनियर अधिकारियों को कई बार डांट चुके हैंं। अधिकारियों को वो लगातार कहते रहते हैं कि वो ही बॉस हैं ।
उन्होंने एक डीएम को सिर्फ इस बात के लिए डांट दिया था कि वो उनसे बिना पहले से अप्वाइंटमेंट लिए मिलने चले गए थे।  उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान आईएएस और आईपीएस को जेल भेजने की भी धमकी दी थी।
 ये तो सभी जानते हैं कि दीपक सिंघल इस पद के लिए अखिलेश यादव की पसंद नहीं थे। ये पद पाने के लिए दीपक सिंघल ने क्या क्या जतन नहीं किए थे ।सीएम विदेश दौरे पर थे और इस बीच प्रवीर कुमार को कार्यकारी मुख्य सचिव बना दिया गया था। उसी दौरान दीपक सिंघल ने ये पद पाने के लिए सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के दिल्ली जाते वक्त जहाज में उनके पैर पकड़े थे जिसे सभी यात्रियों ने देखा था ।
 ये वही दीपक सिंघल हैं जिनका नाम अमर सिंह के टेप कांड में आया था ।