पेट्रोल-डीजल अचानक बढ़ा: गाड़ी चलाना पड़ गया अब महंगा, देखें दाम

इससे सरकार को राजस्व का नुकसान हो रहा था। अब सरकार ने एक बार फिर वैट की दर को बढ़ाकर उतना ही कर दिया है जितना पांच अक्टूबर, 2018 से पहले थी। इस संबंध में अपर मुख्य सचिव (कर एवं निबंधन) आलोक सिन्हा की ओर से देर शाम अधिसूचना जारी की गई है।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की जनता पर मंहगाई की मार पड़ी है। सोमवार रात के बाद से पेट्रोल और डीजल बढ़ी हुई कीमतों में बढ़ोत्तरी कर दी गयी है। यूपी सरकार ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की है जो सोमवार रात से लागू हो गयी।

यह भी पढ़ें… बैंक घोटाले में फंसे सीएम कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी, ईडी ने किया गिरफ्तार

प्रदेश सरकार ने इसका ऐलान किया है। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में यह वृद्धि वैट में बढ़ोतरी की वजह से हुई है। राज्‍य सरकार ने पेट्रोलियम पदार्थों पर लगने वाला वैट बढ़ा दिया है।

यह भी पढ़ें…जौहर यूनिवर्सिटी: पत्नी और बेटे संग बुरा फंसे आजम खान, केस दर्ज

इस वजह से अब उपभोक्‍ताओं को पेट्रोल के 2.50 रुपये प्रति लीटर और डीजल के 1 रुपये प्रति लीटर अधिक देने होंगे।

दरअसल लोकसभा चुनाव से पहले पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत से जनता की नाराजगी बढ़ रही थी जिसे रोकने के लिए राज्य सरकार ने पांच अक्टूबर, 2018 को वैट की दर घटाकर एक झटके में पेट्रोल-डीजल को 2.50-2.50 रुपये प्रति लीटर सस्ता कर दिया था।

यह भी पढ़ें…जयंती विशेष: आखिर पूर्व पीएम राजीव गांधी का एक फैसला कैसे बना उनकी हत्या का कारण

इससे सरकार को राजस्व का नुकसान हो रहा था। अब सरकार ने एक बार फिर वैट की दर को बढ़ाकर उतना ही कर दिया है जितना पांच अक्टूबर, 2018 से पहले थी। इस संबंध में अपर मुख्य सचिव (कर एवं निबंधन) आलोक सिन्हा की ओर से देर शाम अधिसूचना जारी की गई है।