प्रसपा की पहली लिस्ट जारी, यहां से चुनाव लड़ेंगे शिवपाल

प्रेसवार्ता में पत्रकारों से बात-चीत में शिवपाल यादव ने कहा कि बीजेपी की सरकार द्वारा किसानों नौजवानो और मुसलमानों को ठगने का काम किया गया है । उन्होंने यह अपील भी किया कि सेक्युलर लोग हमारे साथ आए और बीजेपी को हटाने में हमारा साथ दें। अपने नए गठबंधन के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि मौलाना तौकीर रजा खान समेत कुछ अन्य दलों के नेता हमारे गठबंधन में शामिल हुए हैं । शिवपाल यादव ने यह भी बताया कि हमने पहले भी बहुत से छोटे-छोटे दलों को मिलाकर सेक्युलर मोर्चा को आगे बढ़ाया था ।

Published by SK Gautam Published: March 19, 2019 | 3:10 pm
Modified: March 19, 2019 | 3:21 pm

लखनऊ: आगामी लोक सभा के चुनाव की सरगर्मियां जोरों पर है, किसको जोड़ें किसको तोड़ें वाली राजनीति ही चल रही है इसी क्रम में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव और पीस पार्टी के अध्यक्ष डॉ अयूब खान की और क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष गोपाल ने आज संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस कर गठबंधन का औपचारिक ऐलान किया। और  इसी के साथ  शिव पाल  ने अपनी पार्टी के उम्मीदवारों की पहली लिस्ट भी जारी किया।  

ये भी देखें: प्रमोद सावंत : आयुर्वेद का डॉक्टर जिसने तय किया गोवा के सीएम तक का सफरहमारा विश्वास है कि ये गठबंधन बीजेपी को हटाने में कामयाब रहेगा बीजेपी के गलत निर्णयों की वजह से देश की व्यवस्था चौपट हो चुकी है ।

पीस पार्टी के अध्यक्ष डॉ अय्यूब खान ने कहा कि हम लोग समर्थन के बजाय सहभागिता चाहते हैं । बीजेपी को निशाने पर लेते हुए कहा कि हमने सपा, बसपा के साथ सभी दलों के नेतृत्व से हमने बात की लेकिन अपने तुच्छ स्वार्थ के लिए सेक्युलर ताकतों के बंटवारे को लोगों ने तरजीह दी, इस बात पर उन्होंने जोर देते हुए कहा कि हम सभी कोशिश कर रहे हैं कि बीजेपी की सरकार न बने, कई और छोटे-छोटे दल हमारे साथ हैं क्योंकि ये सरकार धर्म के नाम पर नफरत पैदा कर रही है ।

ये भी देखें: चीन ने मुंबई अटैक को बताया कुख्यात आतंकी हमला

शिवपाल सिंह यादव ने कहा सीट बंटवारे को लेकर जो भी दिक्कतें है, उसको आपस में बात-चीत करके समस्या का समाधान करने कि बात कही, ताकि सीटों को लेकर कोई विरोधाभास न हो, और इस गठबंधन का उद्देश्य बीजेपी को हटाने के लिए ये गठबंधन हुआ है । हमने सपा बसपा और कांग्रेस से भी बात-चीत का प्रयास किया है, जो भी बीजेपी को हटाने के लिए हमारे साथ गठबंधन में आना चाहता है, आ सकता है । ये तो सब लोग समझ रहे हैं कि हमारा गठबंधन मजबूत है ।

‘नेता जी’ की बात को आज तक हमने टाला नही है, लेकिन उनका जो भी आदेश होगा, उसका हम पालन करेंगे।