VIDEO: उमा बोलीं- गंगा पर पॉलिटिक्स पाप, बुंदेलखंड के सवाल पर मौन

Published by Published: May 1, 2016 | 8:55 pm
Modified: August 10, 2016 | 2:28 am

लखनऊ: नमामि गंगे प्रोजेक्ट के कामों को गति देने के लिए केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने रविवार को यूपी के सीएम अखिलेश यादव से मुलाकात की और उन्हें सपा सुप्रीमों मुलायम सिंह यादव के गंगा प्रोजेक्ट को लेकर किए गए वादों को याद दिलाते हुए निर्मल और अविरल गंगा के केंद्र सरकार के प्रोजेक्ट में साथ देने की बात की।

यह जानकारी उमा भारती ने वीवीआईपी गेस्ट हाउस में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में दी। उन्होंने कहा कि गंगा के मुद्दे पर देश में राजनीति करना पाप है। गंगा पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह एक सुखद बात है कि अभी तक गंगा के मुद्दे पर जनता, मीडिया और राजनीतिक पार्टियों ने हमारा पूरा सहयोग दिया है।

महोबा से एमएलए रह चुकी उमा भारती से जब बुन्देलखंड के सूखे के बारे में बात की गई तो उन्होंने इस मुद्दे पर बात करने से साफ मना कर दिया।

एनओसी नही मिलने से मथुरा वृन्दावन के अभियान में हुई देरी
-उमा भारती ने कहा कि मथुरा वृन्दावन में गंगा निर्मल करने के कई प्रोजेक्ट केंद्र सरकार द्वारा चलाये जाने हैं।
-लेकिन तीन महीने से राज्य सरकार द्वारा एनओसी नहीं मिली हैं।
-अब मानसून के कारण तीन महीने और देरी हो सकती है।

प्रेस कांफ्रेंस में बोलती केंद्रीय मंत्री उमा भारती
प्रेस कांफ्रेंस में बोलती केंद्रीय मंत्री उमा भारती

जोशी जी ने मुझे भी कहा – सौ साल जिओ
-बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी के सौ साल में भी गंगा निर्मल नहीं हो सकती के बयान पर उन्होंने हंसते हुए कहा कि अभी हाल ही में मैं जोशी जी से आशीर्वाद लेने गई तो उन्होंने मुझसे कहा कि सौ साल जिओ।

20 हजार करोड़ रुपये होंगे खर्च
-उमा भारती ने बताया कि गंगा शुद्धिकरण के लिए केंद्र सरकार ने  20 हजार करोड़ रूपए का बजट प्रावधानित किया है।

सबसे पहले झारखंड में बनेगा मॉडल स्ट्रेच
-उमा भारती ने बताया कि गंगा मुख्य रूप से 5 राज्यों से होकर गुजरती है।
-सभी राज्यों में गंगा को निर्मल और अविरल करना है।
-लेकिन सबसे पहले झारखंड में ही मॉडल स्ट्रेच गंगा पर बनेंगे।
-उन्होंने इसका कारण बताते हुए कहा कि झारखंड में गंगा सिर्फ 38 किलो मीटर में है।
-वहां के राज्य सरकार का इसके लिए प्रपोजल भी आ गया है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App