लोन चुकाने के लिए बैंक से मिल रही थी धमकी, परिवार ने खा लिया सल्फास

Published by Admin Published: March 1, 2016 | 11:02 pm
Modified: August 10, 2016 | 2:26 am

घटनास्थल पर मौजूद पुलिस टीम

लखनऊ: राजधानी के मड़ियांव थाना क्षेत्र में पति-पत्नी ने बच्चे सहित सल्फास खाकर जान दे दी। बताया जा रहा है कि बैंक लोन चुकाने के लिए उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा था। मृतक के भाई ने बैंक मैनेजर के खिलाफ तहरीर दी है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

कौन हैं मृतक
-सीतापुर जिले रसूलाबाद सदर के रहने वाले इंद्र प्रकाश वर्मा (35) अपनी पत्नी कल्पना वर्मा (28) और बेटा रोहिताश वर्मा (11) के साथ मड़ियांव थानाक्षेत्र के ओला बिहार सेमरा गढ़ी में रामलीला मैदान के पास रहते थे।
-इंद्र प्रकाश की सीतापुर रोड पर जेजे मार्केट में परचून की दुकान है।

hdfc-4

बैंक मैनेजर पर प्रताड़ना का आरोप
-मृतक के छोटे भाई सूर्यप्रकाश वर्मा ने बताया कि इंद्र प्रकाश ने एचडीएफसी बैंक की इंदिरानगर ब्रांच से दो लाख रुपए लोन लिया था।
-उनके प्लॉट के कागजात बैंक में जमा थे। कई दिनों से बैंक का मैनेजर मड़ियांव के रहने वाले एक दबंग की मदद से प्रताड़ित कर रहा था।
-दो दिन पहले उसने जेल भेजवाने की धमकी दी थी। इसी बजह से उसके भाई, भाभी और भतीजे ने सल्फास खा कर जान दे दी।
-घर का दरवाजा नहीं खुला तो किरायेदारों ने उसे सूचना दी।

hdfc-2

बेड पर पति और बेटा पत्नी जमीन पर मिले
-मड़ियांव थाना प्रभारी संतोष कुमार सिंह दरवाजा तोड़कर घर के भीतर दाखिल हुए।
-इंद्र प्रकाश का शव बेड पर और पत्नी-बेटे का शव जमीन पर पड़ा था।
-पुलिस के मुताबिक शव की दशा देख ऐसा प्रतीत हो रहा है कि दंपत्ति और बेटा दो दिन पहले जहरीला पदार्थ का सेवन किया था।
-एएसपी ट्रांसगोमती जयप्रकाश भी मौके पर पहुंचे और शवों को पोस्टमार्टम के भेजा।

मृतक दंपति की फाइल फोटो
मृतक दंपति की फाइल फोटो

सुसाइड से लोग सन्न 
-गरीबी की मार कहें या फिर बैंक मैनेजर की दबंगई।
-परिवार के सुसाइड से लोग सन्न रह गए।
-बड़ी संख्या में स्थानीय लोग जुटे। सभी बैंक मैनेजर पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे।