घर के मंदिर में ना करें ये गलतियां, नहीं तो उठाना पड़ सकता है आपको नुकसान

Published by suman Published: November 12, 2016 | 4:16 pm

andir
लखनऊ:
हिंदू धर्म में पूजा और मूर्ति पूजा का बहुत महत्व है। इस धर्म में सभी इष्ट देवों को एक विशिष्ट स्थान दिया गया है। मूर्ति पूजा पर विश्वास करने वाले सभी घरों में मंदिर बनाए जाते हैं जिसमें आराध्य देवी-देवताओं की मूर्तियां स्थापित की जाती है। हिन्दू धर्म परंपरा में घर में मंदिर होना महत्वपूर्ण माना गया है। इससे नकारात्मक ऊर्जाओं का प्रवेश बाधित होता है और घर में ईश्वर का आशीर्वाद बना रहता है।

कहते हैं कि घरों में सुबह और शाम, धूप-अगरबत्ती जलाने से सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है और घर का वातावरण शुद्ध बना रहता है। घर में स्थान के हिसाब से छोटे-बड़े मंदिर बनवाए जाते हैं और बड़ी श्रद्धा के साथ उनमें देवी-देवताओं को स्थापित किया जाता है, लेकिन कभी कभी जाने अनजाने गलतियां हो जाती है या होती रहती है। आज उसी के बारे में बताया जा रहा है….
आगे की स्लाइड्स में पढ़ें घर के मंदिर में किस तरह की गलतियां नहीं होनी चाहिए….

temple4
शिवलिंग का साइज छोटा हो
घर के मंदिर में हमेशा अंगूठे के आकार का शिवलिंग रखना चाहिए। घर में कभी बहुत बड़ा शिवलिंग स्थापित नहीं करना चाहिए। माना जाता है शिवलिंग बहुत संवेदनशील होता है। और एक से ज्यादा शिंवलिंग भी अशुभ प्रभाव देता है।

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें घर के मंदिर में किस तरह की गलतियां नहीं होनी चाहिए….

temples

खंडित मूर्ति से घर भी होगा विखंडित
घर के मंदिर में कभी भी खंडित मूर्तियों को ना रखें। अगर कोई मूर्ति खंडित हो भी गई है तो उसे पवित्र नदी में विसर्जित कर दें। और एक बात मूर्तियों का साइज भी बड़ा ना हो।

ना बुझे मंदिर का दीपक
मंदिर में पूजा करते समय जलाया गया दीपक बुझना नहीं चाहिए। अगर पूजा के बीच में ही दीपक बुझ जाता है तो इससे पूजा का फल नहीं मिलता है।
गुरुजनों मृत पूर्वजों की फोटो भी रखें दूर
घर के मंदिर में कभी भी जूते-चप्पल पहनकर ना जाएं। जूते-चप्पल, विशेषकर चमड़े से बने हुए नहीं रखने चाहिए। अपने मृत पूर्वजों की तस्वीर को भी मंदिर में नहीं लगाया जाना चाहिए।

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें घर के मंदिर में किस तरह की गलतियां नहीं होनी चाहिए….

temple-ganesh

एक से ज्यादा गणेशजी अशुभ
गणेश के पूजा के बिना सारी पूजा अधूरी है। घर में गणेश जी की मूर्ति होनी चाहिए, लेकिन कभी भी घर के मंदिर में गणेश जी की तीन मूर्तियां स्थापित नहीं होनी चाहिए। इससे लाभ की जगह नुकसान पहुंचता है।
शंख का अशुभ प्रभाव
साधारणतया घर के मंदिरों में लोग शंख रखते हैं, लेकिन मंदिर में 2 शंख कभी ना रखें। दो शंख के रखना अशुभ होता है।
आगे की स्लाइड्स में पढ़ें घर के मंदिर में किस तरह की गलतियां नहीं होनी चाहिए….
temple2

 

साफ फूल चढ़ाए
मंदिर को साफ रखें मंदिर में भगवान को चढ़ाएं जाने वाले फूल-पत्तियां को धूलकर ही चढ़ाने चाहिए। भगवान के मंदिर के आसपास या ऊपर कूड़ा या कबाड़ इकट्ठा नहीं करना चाहिए। चाहे घर का मंदिर हो या बाहर का भगवान के मंदिर में गुंबद अवश्य बना होना चाहिए। पूजा या फिर कोई भी अन्य धार्मिक कार्य करते समय कभी भी खंडित दीपक या फिर कोई खंडित सामग्री का इस्तेमाल ना करें।

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें घर के मंदिर में किस तरह की गलतियां नहीं होनी चाहिए….

temple

घी-तेल के लिए अलग बत्ती
मंदिर में जलाए गए घी के दीपक के लिए सफेद रंग की बत्ती उपयुक्त है और तेल का दीपक जलाने के लिए लाल धागे की बत्ती सर्वश्रेष्ठ बताई गई है। यह सच है कि भगवान अपनी पूजा से नहीं वरन् अपने लिए श्रद्धा से प्रसन्न होते हैं। लेकिन कुछ विधि-विधान ऐसे हैं, जिनका पालन करना बहुत जरूरी होता है।