इस दिन ना करें कन्या व किन्नर का अपमान, नहीं तो बन जाएंगे कंगाल

जयपुर: बुधवार के स्वामी बुधदेव बुद्धि के दायक हैं। कर्म तो हर व्यक्ति करता है लेकिन कर्मों का इच्छित परिणाम हर व्यक्ति को नहीं मिलता है। इसके पीछे पूजा-पाठ में हुई भूल जिम्मेदार होता है। जीवन में सफलता हासिल करने के लिए बुद्धि की जरूरत होती है। इसलिए यह दिन भगवान गणेश के लिए समर्पित है। बुधवार के दिन बुद्ध देव को प्रसन्न कर आप पा सकते हैं बुद्धि, बल और वेतन में वृद्धि का वरदान। बुद्ध देव को बुधवार और हरा रंग बहुत प्रिय है। हरा रंग शुभ और हरियाली का प्रतीक है।

यह भी पढ़ें…नवरात्रि स्पेशल: दुर्गा सप्तशती के यह 13 रहस्य खोल देंगे आपकी किस्मत के द्वार

मान्यता के अनुसार बुधवार के दिन गणेश जी का अपमान नहीं करना चाहिए। इस दिन दूध जलाने का काम नहीं करना चाहिए, क्योंकि भगवन गणेश को दूध बेहद प्यारा है। बुधवार के दिन नए कपड़े और जूते ना तो खरीदना चाहिए और न ही पहनना चाहिए। इस दिन किसी भी कन्या का अपमान नहीं करना चाहिए, टूथपेस्ट, ब्रश और कोई भी ऐसी चीज जो बाल से संबंधित है उसे नहीं खरीदना चाहिए। इस दिन किन्नर का अपमान नहीं करना चाहिए।बुधवार के दिन पान नहीं खाना चाहिए।

यह भी पढ़ें…19 सितंबर: किस राशि के लोगों पर बरसेगी बजरंगबली की कृपा, पढ़ें मंगलवार राशिफल

इस दिन इस मंत्र का जाप करना चाहिए। भगवान गणेश की मूर्ति के सामने अक्षत, पुष्प, वस्त्र, रोली रखें, चढ़ाएं व मंत्र जाप करते हुए दूर्वा चढ़ाएं.. सामर्थ्य के अनुसार भगवान गणेश को मोदक का भोग लगाएं। पूजा के अंत में घी के दीप जलाकर आरती करें।

दुर्वा करान्सह रितान मृतन्मंगल प्रदान।
आनी तांस्तव पूजार्थ गृहाण परमेश्वर।।