ओडिशा में बीजेपी ने धर्मेद्र प्रधान को लगाया ठिकाने, इस नेता के आए अच्छे दिन !

बीजेपी बदलाव के मोड़ पर है और आलाकमान कई नेताओं को ठिकाने लगा इस बात को जाहिर भी कर चुका है। ऐसे नेताओं की एक लंबी लिस्ट है, जिन्हें ठिकाने लगाया गया। इसके बाद या तो वो बागी हो गए या फिर उन्होंने चुप्पी ओढ़ ली।

Published by Rishi Published: April 23, 2019 | 4:16 pm

नई दिल्ली : बीजेपी बदलाव के मोड़ पर है और आलाकमान कई नेताओं को ठिकाने लगा इस बात को जाहिर भी कर चुका है। ऐसे नेताओं की एक लंबी लिस्ट है, जिन्हें ठिकाने लगाया गया। इसके बाद या तो वो बागी हो गए या फिर उन्होंने चुप्पी ओढ़ ली। वहीं अब इस लिस्ट में नया नाम है केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान का।

यह भी पढ़ें…..सीएम कमलनाथ के भतीजे की कंपनी पर छापे में 1,350 करोड़ की कर चोरी

सूत्रों के मुताबिक, बीजेपी बीजू जनता दल के गढ़ ओडिशा में पूर्व आईएएस अपराजिता सारंगी को राज्य के बड़े नेता के तौर पर स्थापित कर रही है। ऐसा इसलिए है क्योंकि प्रधान से बीजद के रिश्ते अच्छे नहीं है और लोकसभा चुनाव को लेकर आंकलन है कि राजग को बहुमत नहीं मिलने वाला है। ऐसे में सारंगी बीजद को राजग में लाने का जरिया बन सकती है।

सूत्र कहते हैं कि पहले बीजेपी में कहा जाता था कि यदि राज्य में सरकार बनाने का मौका आएगा तो प्रधान सीएम पद संभालेंगे लेकिन सारंगी के आने के बाद अब वो सीएम का चेहरा हैं।

यह भी पढ़ें…..विवादित बयान देने के मामले में प्रज्ञा के खिलाफ मामला दर्ज करने के निर्देश

क्यों यकीन करें सूत्रों पर

भुवनेश्वर और आसपास के इलाके में बीजेपी की जो आदमकद होर्डिग लगी हुई हैं उनमें पीएम नरेंद्र मोदी और अपराजिता की तस्वीरें तो हैं। लेकिन धर्मेद्र प्रधान कहीं नजर नहीं आते। इसके बाद सूत्रों के हवाले से जो खबरें मिल रही हैं उनपर यकीन करना आसान हो जाता है।

राज्य बीजेपी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के तेवर भी यही कहानी बयान करते हैं। सारंगी की तरफ उनका झुकाव सजह नजर आता है।

यह भी पढ़ें……लोकसभा चुनाव : पाँचवें चरण में 181 प्रत्याशी चुनाव मैदान में

कौन हैं ये अपराजिता

बिहार में जन्मी 1994 बैच की ओडिशा कैडर की आईएएस सांरगी ने लोकसभा चुनाव की आहट सुनने के बाद स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ली और पिछले वर्ष नवंबर में बीजेपी में शामिल हो गईं। उस समय सारंगी केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय में संयुक्त सचिव (मनरेगा) के पद पर तैनात थीं।

अपराजिता भुवनेश्वर नगर निगम आयुक्त, खुर्दा जिला कलेक्टर और ओडिशा सरकार में स्कूल एवं जनशिक्षा व पंचायती राज सचिव के पद पर तैनात रही हैं।

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App