दिग्गजों पर तगड़ा एक्शन: ट्वीट पर महाराष्ट्र सरकार कराएगी जांच, जानें पूरा मामला

कांग्रेस नेता ने ये भी कहा, “अगर ये हस्तियां दबाव में हैं तो उन्हें राज्य की ओर से सुरक्षा दी जानी चाहिए। एक ऐसा समय था जब बॉलीवुड पर अंडरवर्ल्ड की ओर से दबाव डाला जाता था।

दिग्गजों पर तगड़ा एक्शन: ट्वीट पर महाराष्ट्र सरकार कराएगी जांच, जानें पूरा मामला
महाराष्ट्र सरकार किसान आंदोलन पर दिग्गजों के ट्वीट की जांच करेगी, बीजेपी के दबाव में नहीं लिखा
Follow us on

मुंबई किसान आंदोलन के समर्थन में पॉप स्टार सिंगर रिहाना के ट्वीट करने के बाद बॉलीवुड-खेल जगत से जुड़ीं हस्तियों की ओर से ट्वीट्स किए जाने के मामले में उद्धव सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। अब सरकार ने इन सेलिब्रिटीज द्वारा ट्वीट्स किए जाने को लेकर जांच के आदेश दिए हैं। पिछले दिनों विदेश मंत्रालय द्वारा प्रतिक्रिया दिए जाने के बाद बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार, अजय देवगन, लता मंगेशकर, क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर समेत कई हस्तियों ने ट्वीट्स किए थे।

ट्वीट्स पर गरमाई राजनीति

अब इन दिग्गजों के ट्वीट्स पर राजनीति गरमाने लगी है। ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के सदस्य और मुंबई कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने आरोप लगाया है कि बीजेपी के दबाव में जानेमाने लोगों की ओर से आरोप लगा है कि बीजेपी के दबाव में जानेमाने लोगों की ओर से ट्वीट किए गए।

एनसीपी नेता अनिल देशमुख ने जांच की बात की

महाराष्ट्र के गृह मंत्री और एनसीपी नेता अनिल देशमुख ने कहा है कि राज्य की इंटेलीजेंस एजेंसीज इस मामले में जांच कर सच्चाई का पता लगा लेगी। अनिल देशमुख का मानना है कि भाजपा ने इन ट्वीट्स को करने के लिए हस्तियों पर दबाव बनाया है। वहीं बीजेपी ने देशमुख के बयान पर सख्त प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

यह पढ़ें....कैंसर पीड़ित युवक ने की तीन शादियां, दो पत्नियों ने छोड़ा साथ, तीसरे की कर दी हत्या



इन हस्तियों से माफी मांगते हुए फैसला वापस ले

बीजेपी नेता राम कदम ने ट्वीट में पूछा है कि क्या देश हित में इन सेलेब्रिटीज का ट्वीट करना अपराध है। राम कदम के मुताबिक कांग्रेस को इन हस्तियों से माफी मांगते हुए फैसले को वापस लेना चाहिए। सचिन सांवत की ओर से एक वीडियो मीटिंग ऐप के जरिए किए गए सेशन में महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने भी हिस्सा लिया। बता दें देशमुख कोविड-19 पॉजिटिव होने के बाद क्वारनटीन में हैं ।

सांवत ने इस मौके पर महाराष्ट्र के गृह मंत्री का ध्यान खींचते हुए आरोप लगाया कि ये बीजेपी का दबाव है कि देश में बॉलीवुड की अनेक हस्तियों और भारतीय क्रिकेटर्स समेत कुछ जानेमाने लोगों की ओर से किसानों के आंदोलन को लेकर करीब करीब मिलते-जुलते संदेश ट्वीट किए गए।

देश में इस वक्त खतरनाक स्थिति

सावंत ने कहा कि बीजेपी ने देश में इस वक्त खतरनाक स्थिति बना दी है।।किसान आंदोलन को लेकर सावंत ने आरोप लगाया कि बीजेपी पूरी तरह अलोकतांत्रिक तरीके से से काम कर रही है, जिससे हर कोई चिंतित है। सावंत ने इंटरनेशनल पॉप स्टार रिहाना की ओर से किसान आंदोलन को लेकर हाल में किए गए ट्वीट का हवाला दिया। बीजेपी ने इसके बाद डैमेज कंट्रोल में ट्वीट्स की मुहिम शुरू कराई जिसके लिए कई जानीमानी हस्तियों पर दबाव डाला गया।

virat kohali

अक्षय कुमार और साइना नेहवाल ने एक जैसे ट्वीट

सांवत के आरोप के मुताबिक इस काम के लिए बीजेपी की ओर से इन हस्तियों को एक स्क्रिप्ट दी गई। सावंत ने कहा, “अक्षय कुमार और साइना नेहवाल ने एक जैसे ट्वीट किए है। कांग्रेस नेता ने ये भी कहा, “अगर ये हस्तियां दबाव में हैं तो उन्हें राज्य की ओर से सुरक्षा दी जानी चाहिए। एक ऐसा समय था जब बॉलीवुड पर अंडरवर्ल्ड की ओर से दबाव डाला जाता था। लेकिन मौजूदा वक्त में ऐसे दबाव के मायने बिल्कुल बदल गए हैं. ऐसा लगता है कि खिलाड़ियों पर बीसीसीआई की तरफ से दबाव है। बॉलीवुड भी दबाव है और इसकी जांच की जानी चाहिए।कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि

यह पढ़ें....मुख्य विकास अधिकारी सौम्या पांडे की अध्यक्षता में हुई बैठक, दिए गए ये निर्देश

बीजेपी नेता राम कदम ने ट्वीट में कांग्रेस और महाराष्ट्र सरकार को इस मुद्दे पर आड़े हाथ लिया। इन ट्वीट में राम कदम ने लिखा, कि कांग्रेस पार्टी हमारे देश को बदनाम करने वालों की समर्थक और प्रवक्ता बन चुकी है। राम कदम ने कहा कि कांग्रेस को देश से ज्यादा प्यार अपने दल से है। क्या देश हित मे इन सेलिब्रिटीज का ट्वीट लिखना अपराध हैं? कांग्रेस लता दीदी और सचिन से माफी मांगते हुए फैसला वापस लें।