पहली मुलाकात में ही PM को भाए सहारनपुर के मेयर, नाश्ते पर की ‘मन की बात’

पहली मुलाकात में ही PM के भाए सहारनपुर के मेयर, नाश्ते पर की 'मन की बात'

सहारनपुर: प्रदेश में हाल ही में संपन्न हुए नगर निकाय चुनाव में बड़ी जीत के बाद बीजेपी के सभी 14 मेयर की पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात हुई। इस मुलाकात में सहारनपुर के पहले मेयर और बीजेपी के वरिष्ठ नेता संजीव वालिया ने पहली ही मुलाकात में पीएम को अपना बना लिया। संजीव वालिया और यूपी के बीजेपी से जीते अन्य 13 मेयर के साथ इस समय संजीव वालिया गुजरात विधान सभा चुनाव के प्रचार के लिए गुजरात के भ्रमण पर हैं।

मंगलवार को संजीव वालिया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच करीब 26 मिनट की वार्ता हुई। इस दौरान प्रधानमंत्री ने संजीव वालिया से सहारनपुर शहर और नगर निगम क्षेत्र में शामिल हुए 32 गांवों की भौगोलिक स्थिति के बारे में जानने के साथ कई अन्य मुद्दों पर वार्ता की।
पहली मुलाकात में ही PM के भाए सहारनपुर के मेयर, नाश्ते पर की 'मन की बात'

‘स्मार्ट सिटी’ पर की पीएम से बात
संजीव वालिया ने प्रधानमंत्री को सहारनपुर नगर निगम से संबंधित विभिन्न समस्याओं के समाधान को लेकर एक ज्ञापन भी सौंपा है। प्रधानमंत्री को सौंपे गए ज्ञापन में कहा गया कि भारत सरकार द्वारा संचालित ‘स्मार्ट सिटी’ मिशन के तहत सहारनपुर का चयन हुआ था, परंतु अभी तक सहारनपुर स्मार्ट सिटी योजना में शामिल नहीं हो सका है। जनहित में सहारनपुर का स्मार्ट सिटी योजना में शामिल होना जरूरी है। चौथे चक्र का प्रोजेक्ट केंद्र सरकार के पास जमा करा दिया गया है।
पहली मुलाकात में ही PM के भाए सहारनपुर के मेयर, नाश्ते पर की 'मन की बात'

सीवर लाइन की समस्या अहम
इसके अलावा वालिया ने पीएम को दूसरी समस्याओं से भी अवगत कराया। उन्होंने बताया, सहारनपुर नगर निगम में 32 गांवों को शामिल किया गया है। किसी भी गांव में सीवर लाइन नहीं है। नगरीय क्षेत्र में भी मात्र 68 किमी सीवर लाइन है, जिससे मात्र नगर निगम बनने के उपरांत 10 प्रतिशत क्षेत्रफल लाभांवित हुए। शेष 90 प्रतिशत क्षेत्र में सीवर लाइन का कार्य कराया जाना जरूरी है।

सड़कों की सेहत पर भी हुई बातचीत
उन्होंने बताया, नगर क्षेत्र में मात्र एक एसटीपी प्लांट है, जिसकी क्षमता 68 एमएलडी है। यह प्लांट इतनी बड़ी आबादी के लिए पर्याप्त नहीं है। एक अन्य समस्या से पीएम को अवगत कराते हुए संजीव वालिया ने बताया, कि सहारनपुर क्षेत्र की सड़क बेहद खराब है। नवविकसित कॉलोनियों के तहत रिंग रोड, संपर्क मार्ग एवं आंतरिक गलियों का निर्माण होना है। इसके अलावा नगर निगम क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति भूमिगत जल से की जाती है। इसके लिए वर्तमान में 98 टयूबवेल कार्यरत है तथा 11 ओवरहेड टैंक परिचालन में है। जनसंख्या के सापेक्ष में जल वितरण प्रणाली को दृष्टिगत रखते हुए सहारनपुर नगर के लगभग 40 प्रतिशत क्षेत्रफल को पेजयल आपूर्ति सुनिश्चित की जानी है।

कूड़ा निस्तारण पर भी की चर्चा
इसके अलावा संजीव वालियाा ने कूड़ा निस्तारण की समस्या से भी पीएम को अवगत कराया। पीएम ने सभी समस्याओं के समाधान कराए जाने और केंद्र सरकार से सहायता प्रदान करने का आश्वासन संजीव वालिया को दिया है।