मौत से पहले इस बेटी ने पिता से फोन पर कहे थे ये दो शब्द…

शनिवार को शहर के बड़े कारोबारी की पत्नी अपार्टमेंट की सातवीं मंजिल से संदिग्ध परिस्थितियों में गिरने से मौत हो गई। मृतका के परिजनों ने हत्या का आरोप लगाकर जमकर हंगामा किया।

कानपुर: शनिवार को शहर के बड़े कारोबारी की पत्नी अपार्टमेंट की सातवीं मंजिल से संदिग्ध परिस्थितियों में गिरने से मौत हो गई। मृतका के परिजनों ने हत्या का आरोप लगाकर जमकर हंगामा किया।

परिजनों का आरोप है कि शादी के बाद से बेटी को दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाता था। जिसकी वजह से उसकी हत्या कर 7 वीं मंजिल से फेंका गया है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

ये भी पढ़ें…IIT Kanpur: ड्रोन एंड रोबोटिक्स सब्जेक्ट पर हैकथान प्रतियोगिता का हुआ आगाज

ये है पूरा मामला

कोहना थाना क्षेत्र के रियाशी इलाके में एल्डोराडो अपार्टमेंट है। इस अपार्टमेंट की सातवीं मंजिल पर सुशील अग्रवाल रहते है। सुशील अग्रवाल की मंधना में अनुशील फिलामेंट प्राइवेट लिमिटेड पॉलिस्टर धागा बनाने की फैक्ट्री है।

सुशील अग्रवाल के परिवार में पत्नी रानू ,बेटे उत्कर्ष और बहु हर्षिता के साथ रहते है। उत्कर्ष और हर्षिता की शादी ढाई साल पहले हुई थी।

हर्षिता के पिता पदम अग्रवाल कागज कारोबारी है। पदम अग्रवाल ने ढाई साल पहले बेटी की शादी उत्कर्ष अग्रवाल से की थी। पदम अग्रवाल का कहना है कि मैने बेटी की शादी सुशील अग्रवाल के बेटे उत्कर्ष अग्रवाल से की थी। बीते ढाई साल से दहेज के लिए उत्पीड़न कर रखा था। रोज पैसे की मांग करते थे और बेटी को परेशान करते थे।

उन्होंने बताया कि आज एक घंटे पहले बेटी का फोन मेरे पास आया उसने कहा कि पापा मुझे बुला लीजिए ये लोग मुझे परेशान कर रहे है।

ये भी पढ़ें…घूमने व शॉपिंग का है शौक तो कानपुर के इन मार्केट में कदम रखने से पहले जान ये बात

बेटी ये बाते सुनकर मैने बेटी के ससुर और पति को फोन किया लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया। आधे घंटे बाद मेरे पास फोन आया कि जल्दी आ जाओ थोड़ा काम है। जब मै वहां पहुंचा तो मरी पड़ी थी। उसको सातवीं मंजिल से फेंका गया है।

वहीं कर्नलगंज के सीओ जर्नादन दुबे के मुताबिक सातवीं मंजिल पर एक अग्रवाल फैमिली रहती थी। उनकी बहु हर्षिता अग्रवाल खिड़की से नीचे आ गई है जिससे चोट लगने के कारण उनकी मौत हो गई है। मृतका के परिजन जो तहरीर देंगे उसी आधार पर कार्यवाई की जाएगी।