‘राम जन्मभूमि’ का जिक्र करते हुए योगा के तेवर दिखे नरम, अयोध्या को मिला 350 करोड़ रुपए का चढ़ावा

सीएम योगी आदित्यनाथ बुधवार (31 मई) अयोध्या पहुंचे। धार्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण इस शहर के लिए योगी ने 350 करोड़ रुपए की योजनाओं की घोषणा की।

Published by sujeetkumar Published: May 31, 2017 | 6:31 pm
Modified: May 31, 2017 | 6:32 pm

अयोध्या: सीएम योगी आदित्यनाथ बुधवार (31 मई) को अयोध्या पहुंचे। धार्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण इस शहर के लिए योगी ने 350 करोड़ रुपए की योजनाओं की घोषणा की। योगी ने कहा, “मैं आप सबकी भावनाओं को जानता हूं, कि आप क्या जानना चाहते हैं। अयोध्या विवाद का हल बातचीत से निकाला जाए तो यूपी सरकार लोगों के साथ है।

लखनऊ में कई मुस्ल‍िम संगठनों ने राम जन्मभूमि हिंदू समाज को सौंपने की पहल की है। ये बात मुझे बहुत अच्छी लगी। वहीं जो लोग देश का विकास नहीं चाहते वो लोग एकता में बाधा पैदा करने की कोशिश करेंगे।

यह भी पढ़ें… सीएम योगी ने किए अयोध्या में हनुमानगढ़ी के दर्शन, सरयू तट पर भी की पूजा

पिछली सरकारों ने अयोध्या पर ध्यान नहीं दिया। हालांकि ‘राम जन्मभूमि’ का जिक्र करते हुए उनके तेवर थोड़े नरम दिखे। उन्होंने बातचीत से ही ये मुद्दा हल करने की बात कही।

अयोध्या में रामलीला का महत्व
महंत नृत्य गोपाल दास के जन्मोत्सव के अवसर पर अयोध्या पहुंचे योगी कहा कि अयोध्या में रामलीला होनी ही चाहिए। अयोध्या से श्रीराम का नाम जुड़ा है। धर्म का मकसद लोक कल्याण है।

धर्म को संकीर्ण दायरे में नहीं रख सकते। साथ ही उन्होंने कहा कि हरिद्वार और बनारस की गंगा आरती की तरह यहां सरयू आरती भी होनी चाहिए। गौरतलब है कि 2002 के बाद यह पहला मौका है जब प्रदेश के सीएम रामलला के दर्शन करने अयोध्या पहुंचे हैं।

यह भी पढ़ें…योगी राज में घनघोर ठंडी बीयर का शुभारंभ करने पहुंचीं मंत्री जी, मुसीबत में फंस गये IPS कपल्स

योगी के निर्देश
सीएम योगी ने घाटों को दुरुस्त करने और इसके विशेष रखरखाव के भी निर्देश दिए। यहां कि हर दीवारों का सही कराया जाए, जिससे सरयू विकसित रुप में पहचानी जाए। साथ ही उन्होंने कहा कि हर टाइल्स की मरम्त कराई जाए और नदी के किनारों का सौंदर्यीकरण किया जाए।

यह भी पढ़ें…BJP नेता का CM योगी को पत्र, कहा- मत बंद करें यश भारती पेंशन, उसी से चलता है गुजारा

जल्द होगा राम-जानकी मार्ग का निर्माण
योगी ने राम नवमी पर 24 घंटे बिजली देने की घोषणा की और कहा कि अब बिजली देने में कोई भेदभाव नहीं होगा। अयोध्या के विकास की योजनाओं का श्रेय पीएम नरेंद्र मोदी को देते हुए बताया कि राम-जानकी मार्ग का निर्माण जल्द किया जाएगा।

पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अयोध्या की साफ-सफाई पर भी काम किया जाएगा और पूरे शहर में एलईडी स्ट्रीट लाइट्स लगाई जाएंगी। इन सब योजनाओं के जरिए अयोध्या के विकास पर सरकार 350 करोड़ रुपए खर्च करने जा रही है।

यह भी पढ़ें…CM योगी का निर्देश, यूपी सचिवालय में 1 अक्टूबर से अनिवार्य हो ई-ऑफिस व्यवस्था

मधुरा, प्रयागराज, विंध्यवासिनी धाम और नैमिषारण्य सहित धार्मिक महत्व के सभी क्षेत्रों के विकास के लिए योजनाएं बनाकर उन पर अमल किया जाएगा। हर धर्म और संप्रदाय की आस्था के क्षेत्र का इसी तरह विकास किया जाएगा।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App