HC के फैसले पर बोले नकवी- कोर्ट पर कमेंट नहीं, संविधान के तहत चलेंगे

Published by Admin Published: April 21, 2016 | 7:24 pm
Modified: August 10, 2016 | 2:28 am

रामपुरः उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन हटाने और कांग्रेस के 9 बागी विधायकों की सदस्यता समाप्त करने के नैनीताल हाईकोर्ट के आदेश के सवाल पर केंद्रीय अल्पसंख्यक एवं संसदीय कार्य राज्यमंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि संविधान सर्वोपरि है और संविधान के तहत ही आगे कदम उठाएंगे।

बता दें, कि गुरुवार को मुख्तार अब्बास नकवी रामपुर के 3  गांव पटरिया, शंकरपुर और रठौंडा में ग्रामोदय से भारत उदय अभियान के तहत ग्राम सभाओं को संबोधित कर रहे थे।

ग्रामीणों में अधिकार के प्रति जागरुकता 
-मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि ग्रामीणों में उनके अधिकार के प्रति जागरुकता लाई जाएगी।
-ग्रामीणों को केंद्र की योजनाओं की जानकारी के साथ-साथ उनके हितों से संबंधित प्रयास किए जाएंगे।
-जिससे ग्राम का उदय हो और इससे भारत का उदय हो सके।

देश संविधान और संविधान व्यवस्था से चलता है
-मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि हाईकोर्ट की टिप्पणी पर टिप्पणी करना उचित नहीं है।
-उन्होंने राष्ट्रपति राजा नहीं होता सवाल के जवाब में कहा कि हमारे लोकतांत्रिक देश में कोई राजा महाराजा नहीं बन सकता।
-देश संविधान और संविधान व्यवस्था से चलता है।
-देश में जो भी निर्णय लिए जाते हैं वह संविधान के दायरे में होते हैं।

यह भी पढ़ें … नैनीताल HC ने कहा-राष्ट्रपति राजा नहीं,किया जा सकता है फैसले को चैलेंज

बता दें, कि बुधवार को उत्तराखंड हाईकोर्ट ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए कहा था कि राष्ट्रपति कोई राजा नहीं है। राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने के मामले में वह गलत भी हो सकते हैं। कोर्ट के आदेश की समीक्षा हो सकती है तो उनके आदेश की भी पड़ताल की जा सकती है।

बीजेपी कभी राममंदिर मुददे पर चुनाव नहीं लड़ी
-राममंदिर के सवाल पर मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि उनके लिए यह मुददा कभी राजनीतिक नहीं बल्कि सैद्धान्तिक मुददा था, है और रहेगा।
-बीजेपी कभी राममंदिर मुददे पर चुनाव नहीं लड़ी है।
-राममंदिर का निर्माण बातचीत के माध्यम या फिर कोर्ट के निर्णय से होना चाहिए।

यह भी पढ़ें … नैनीताल HC का ऐतिहासिक फैसला, प्रेसिडेंट रूल हटाओ, 29 को फ्लोर टेस्ट

केशव प्रसाद मौर्या को बताया शेर
-बीजेपी के नए यूपी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या के विरोध के सवाल पर नकवी ने शायराना अंदाज में कहा कि ‘दौर है संघ आजमाई का और मैं आईना सजाता हूं। तुम हवाओं को हौंसला बख्शो मैं चिरागों की लौ बढ़ाता हूं।’

-नकवी ने केशव प्रसाद मौर्या को शेर बताते हुए कहा कि उनपर लोग पत्थर फेंक रहे हैं।
-खेत खलिहान से संघर्षकर बीजेपी का अध्यक्ष बन जाना विरोध की वजह है और यह विपक्ष की हताशा का एहसास कराता है।

बयान अच्छा लगे तो अपना लो वरना जाने दो
बीजेपी नेता गिरीराज के बयान पर तंज करते हुए नकवी ने कहा कि महान चिंतकों के अच्छे-अच्छे बयान आते रहते हैं अच्छा लगे तो अपना लो अन्यथा जाने दो।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App