कोरोना: वाराणसी के छात्रों को बड़ी राहत, कौशल राज बने ऐसा करने वाले पहले DM

उत्तर प्रदेश के वाराणसी के छात्रों बड़ी राहत मिली है। जिले के डीएम ने सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के स्कूलों को लॉकडाउन अवधि के दौरान फीस जमा नहीं करने के लिए कहा है।

वाराणसी: उत्तर प्रदेश के वाराणसी के छात्रों बड़ी राहत मिली है। जिले के डीएम ने सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के स्कूलों को लॉकडाउन अवधि के दौरान फीस जमा नहीं करने के लिए कहा है।

तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस महामारी की वजह से देश भर में लॉकडाउन है। वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने पत्र जारी कर स्कूलों को तीन महीने की फीस नहीं लेने का आदेश दिया है।

यह भी पढ़ें…कोरोना से लड़ने में यूपी का ये जिला अव्वल, लॉकडाउन में दे रहा ये सभी सुविधा

जिलाधिकारी की तरफ से जारी पत्र में कहा गया है कि आप सभी भली भांति अवगत हैं कि माननी प्रधानमंत्री जी के आदेशानुसार कोविड-19 के प्रसार को नियंत्रित करने के उद्देश्य से दिनांक 14 अप्रैल 2020 तक संपू्र्ण भारत वर्ष में लाॅक डाउन है। वाराणसी जिले में उक्त लाॅकडाउन के कारण अभिवावकों व उनके परिजनों के द्वारा उनका कारोबार व रोजगार प्रभावित होने के दृष्तिगत, विद्यालयों में अध्ययनरत छात्रों की फीस माह अप्रैल, मई व जून 2020 जो माह अप्रैल में ही पूर्व वर्षों की भांति जमा कराया जाना है। उक्त के समयावधि बढ़ाए जाने की मांग की जा रही है।

यह भी पढ़ें…जरूरतमंदों के लिए बजट भरपूर, जानिए किस सुविधा के लिए कितना मिला पैसा

इसके साथ ही पत्र में कहा गया है कि वर्ष 2020-21 में छात्रों की फीस(माह अप्रैल, मई व जून 2020) तीन महीने की माह अप्रैल व मई 2020 में जमा ना कराएं। अप्रैल-मई-जून की फीस का चार्ट तैयार कर अपने स्तर से अभिभावकों को इसकी जानकारी दी जाए।

बता दें कि सभी स्कूल और कॉलेज इस संकट के दौरान किसी भी सामूहिक सभा से बचने और शारीरिक संपर्क को सीमित करने के लिए बंद कर दिए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिन का लॉकडाउन लगाया है जो 14 अप्रैल को खत्म होगा।