यूपी में अलर्ट: लावारिस गर्भवती निकली कोरोना पॉजिटिव, 79 लोग क्वारंटाइन

बीते दिनों आशा ज्योति केन्द्र से पुलिस द्वारा रानी लक्ष्मी बाई संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराई गई गर्भवती महिला की कोरोना जांच रिपोर्ट पाजिटिव आने से हड़कंप मच गया।

लखनऊ। बीते दिनों आशा ज्योति केन्द्र से पुलिस द्वारा रानी लक्ष्मी बाई संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराई गई गर्भवती महिला की कोरोना जांच रिपोर्ट पाजिटिव आने से हड़कंप मच गया। सीएमओं के निर्देश पर महिला को लोकबन्धु हॉस्पिटल भेजा गया और अस्पताल की चिकित्सक, स्टाफ समेत 51 लोगों को होम क्वारंटाइन कर दिया गया है, साथ ही पूरे अस्पताल को सेनेटाइज कराया गया। क्वरेंटाइन किये गये सभी लोगों के सैंपल जांच को भेजे गये हैं।

ये भी पढ़ें…SBI का बंपर ऑफर: लिया हो कोई भी लोन, सभी के लिए ये ऐलान

लावारिस गर्भवती महिला सड़क पर मिली

इसके अलावा आशा ज्योति केंद्र के 16 लोगों और पारा थाना के 12 पुलिस कर्मियों को भी क्वरेंटाइन किया गया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार 2 मई की रात को पारा पुलिस को एक लावारिस गर्भवती महिला सड़क पर मिली।

पूछताछ में सही जबाब न मिलने पर पुलिस ने उसे आशा ज्योति केंद्र पहुंचाया, लेकिन कोरोना जांच के अभाव में गर्भवती को रखने से इनकार कर दिया। इस बीच जिला प्रोबेशन अधिकारी ने बिना जांच के ही केंद्र में रखने के निर्देश दिए।

आशा केन्द्र पर दो दिन रही

इसके बाद गर्भवती महिला, आशा केन्द्र पर दो दिन रही, हालत बिगड़ने पर केन्द्र संचालकों ने महिला को पुलिस के साथ इलाज के लिए 4 मई को रानी लक्ष्मी बाई महिला चिकित्सालय में लावारिस बताकर भर्ती करा दिया।

ये भी पढ़ें…अभी-अभी फिर गैस लीक: अब यहां मचा मौत का तांडव, कई लोग अस्पताल में भर्ती

महिला को लोकबंधु अस्पताल में भर्ती

जहां अन्य जांचों के साथ ही उसका नमूना कोरोना जांच के लिए भेजा गया। बुधवार को गर्भवती की कोरोना जांच रिपोर्ट आ गई, जिसमे वह पाजिटिव पायी गई। जिसकी सूचना सीएमओ को दी गई और सीएमओं के निर्देश पर महिला को लोकबंधु अस्पताल में भर्ती किया गया।

इसके बाद रानी लक्ष्मी बाई महिला चिकित्सालय में महिला के संपर्क में आने वाले चिकित्सिक, स्टाफ नर्स समेत 51 लोगों होम क्वरेंटाइन के लिए भेज दिया गया तथा जिस आशा ज्योति केंद्र में उक्त गर्भवती महिला दो दिन रूकी थी।

प्रेग्नेंसी, एचआईवी समेत कई जरूरी जांचें

वहां के भी 16 लोगों को तथा आशा ज्योति केंद्र से अस्पताल पहुंचाने वाली पुलिस टीम के 12 पुलिसकर्मियों को भी क्वरेंटाइन किया गया है।

ये भी पढ़ें…अरबाज खान की दूसरी शादी पर गर्लफ्रेंड ने दिया ऐसा रिएक्शन, कहा- फर्क नहीं पड़ता

सभी को होम क्वारंटाइन

अस्पताल के सीएमएस डॉ एके आर्या ने बताया कि उक्त महिला जिस वार्ड में भर्ती थी, वहां पर अन्य कोई मरीज नही भर्ती थी। इसलिये अन्य वार्डो में प्रभाव नहीं रहा।

इसके अलावा उसकी प्रेग्नेंसी, एचआईवी समेत कई जरूरी जांचें और इलाज के दौरान जो कोई भी संपर्क में आया है, सभी को होम क्वारंटाइन कर दिया गया है। इसके अलावा अस्पताल व वार्ड को सैनेटाइज करा दिया गया है।

ये भी पढ़ें…जनसंख्या एक्सप्रेस: बच्चों के जन्म का टूटेगा रिकार्ड, UNICEF का दावा, ये है बड़ी वजह