स्वामी चिन्मयानंद लखनऊ मेडिकल कालेज रेफर किये गए, हालत गंभीर

लखनऊ: शाहजहांपुर स्थित एसएस लॉ कॉलेज की छात्रा द्वारा लगाए गए गंभीर आरोपों से घिरे स्वामी चिन्मयानंद की हालत ज्यादा बिगड़ गई बतायी जा रही है। उन्हें लखनऊ केजीएमसी मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है। बताया जा रहा है कि हार्ट में दिक्कत बढ़ी है। स्वामी पहले से ही लो शुगर और डायबिटीज के मरीज है। लॉ कॉलेज की छात्रा ने लगाया है यौन शोषण का आरोप.।

लखनऊ: शाहजहांपुर स्थित एसएस लॉ कॉलेज की छात्रा द्वारा लगाए गए गंभीर आरोपों से घिरे स्वामी चिन्मयानंद की हालत ज्यादा बिगड़ गई बतायी जा रही है। उन्हें लखनऊ केजीएमसी मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है। बताया जा रहा है कि हार्ट में दिक्कत बढ़ी है। स्वामी पहले से ही लो शुगर और डायबिटीज के मरीज है। लॉ कॉलेज की छात्रा ने लगाया है यौन शोषण का आरोप.।

इससे पूर्व बरेली के मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती चिन्मयानंद का इलाज डॉक्टर अंबुज यादव की टीम कर रही थी। गुरुवार को उनका अल्ट्रासाउंड कराया गया और ब्लड सैंपल लेकर टेस्ट के लिए भेज दिया गया। बता दें कि बुधवार शाम चिन्मयानंद की हालत बिगड़ने के बाद उन्हें मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था, जहां उन्हें प्राइवेट वार्ड नंबर आठ में रखा गया है।

ये भी पढ़ें…उत्पीड़न केस: स्वामी चिन्मयानंद के बुरे दिन शुरू, SIT ने दागे कई सवाल

मालूम हो कि धारा 164 से तहत छात्रा के कलमबंद बयान दर्ज किए जाने के बाद सोमवार देर शाम स्वामी चिन्मयानंद की हालत अचानक बिगड़ गई थी। रात करीब आठ बजे मेडिकल कॉलेज और प्राइवेट डॉक्टरों की टीम आश्रम में उनके आवास दिव्य धाम पहुंची और उपचार किया था।

उस समय मेडिकल कॉलेज के प्रोफेसर और फिजीशियन डॉ. एमएल अग्रवाल ने बताया था कि स्वामी चिन्मयानंद की डायबिटीज, कोलस्ट्रोल और ब्लड प्रेशर की दवाएं पहले से चल रही थीं। उन्हें चार दिन से लूज मोशन होने के कारण कमजोरी भी आ गई थी। उनका ब्लड प्रेशर लो था।

हालांकि देर रात उनकी हालत स्थिर हो गई थी, लेकिन बुधवार शाम फिर से तबियत बिगड़ गई। वहीं स्वामी पर आरोप लगाने वाली छात्रा ने बयान दर्ज होने के बाद भी दुष्कर्म का केस नहीं बढ़ाए जाने पर कहा कि चिन्मयानंद बच्चा बन कर बीमार होने का नाटक कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें…शाहजहांपुर केस! SIT पहुंची चिन्मयानंद के दरबार, कर रही ये सब

योगी सरकार पर चिन्मयानंद को बचाने का आरोप

स्वामी चिन्मयानंद की गिरफ्तारी की मांग को लेकर कांग्रेस की दो दिग्गज महिला नेता सुप्रिया श्रीनेत और शर्मिष्ठा मुखर्जी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके उत्तर प्रदेश की योगी सरकार और भारतीय जनता पार्टी पर जमकर हमला बोला।

कांग्रेस की दोनों नेताओं ने योगी सरकार पर बड़े आरोप लगाते हुए कहा कि यूपी की बीजेपी सरकार स्वामी चिन्मयानंद पर कार्रवाई करने के बजाय उन्नाव रेप के आरोपी कुलदीप सेंगर की तरह ही चिन्मयानंद को बचाने में जुटी है।

सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी चुप्पी
साधे हुए हैं। इतना ही नहीं बीजेपी की महिला सांसद भी चिन्मयानंद के मामले पर पूरी तरह से चुप हैं।

जबकि पीड़िता कह रही है कि वह आत्महत्या कर लेगी तब उसकी बात  सुनी जाएगी। 164 के तहत पीड़िता से 11 घंटे तक पूछताछ तक की गई।

इसके बाद भी आरोपी खुला घूम रहा है। ऐसे में क्या वह सूबतों के साथ छेड़छाड़ नहीं कर सकते हैं। कांग्रेस नेता ने कहा कि चिन्मयानंद तीन बार के सासंद रह चुके हैं और एक बार केंद्रीय गृह राज्य मंत्री रहे हैं।

ये भी पढ़ें…चिन्मयानंद मामला: लड़की को सुप्रीम कोर्ट लाया गया

ऐसे में इतने ताकतवर इंसान के अत्याचारों के खिलाफ पीड़िता ने आवाज उठाने की हिम्मत दिखाई। ऐसे में आरोपी के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय शाहजहांपुर के जिला अधिकारी समेत प्रशासन के लोग पीड़िता और उसके परिवार को धमकाने में जुटे हैं।

उन्होंने कहा कि रेप पीड़िता योगी सरकार के रवैए से इस कदर पीड़ित हो गई है कि वह आत्म हत्या कर लेने की बात करने कर रही है। इसी तरह से योगी सरकार ने उन्नाव रेप मामले के आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर को बचाने में जुटी थी।